दूसरे टेस्ट से भारत के गेंदबाजों ने काफी कुछ सीखा : कोहली

सेंट लूसिया। भारतीय टेस्ट टीम के कप्तान विराट कोहली ने कहा है कि उनके गेंदबाजों ने ड्रॉ हुए दूसरे टेस्ट मैच से काफी कुछ सीखा है और वह टेस्ट के अंतिम दिन किए गए बुरे प्रदर्शन को तीसरे टेस्ट मैच में दोबारा नहीं दोहराएंगे। भारत और वेस्टइंडीज के बीच तीसरा टेस्ट मैच मंगलवार को सेंट लूसिया के डैरेन सैमी स्टेडियम में खेला जाएगा। भारत ने पहला टेस्ट मैच पारी और 92 रनों से जीता था। दूसरे टेस्ट में भी वह जीत की प्रबल दावेदार मानी जा रही थी। लेकिन टेस्ट मैच के अंतिम दिन वेस्टइंडीज के रोस्टन चेस ने 269 गेंदों में 137 रनों की पारी खेल मैच ड्रॉ कर दिया था।

virat kholi

भारतीय टीम अंतिम दिन वेस्टइंडीज के आखिरी के छह विकेट लेने में असफल रही थी। कोहली ने तीसरे टेस्ट मैच से पहले कहा, “पांचवें दिन मुकाबला काफी चुनौतीपूर्ण हो गया था। हम जानते थे कि हमारे पास जीत का मौका है। अगर हम चौथे दिन खेल पाते तो हम जीत सकते थे। माहौल हमारे पक्ष में था, और यह क्रिकेट के सभी प्रारूपों में बड़ी बात है, खासकर टेस्ट क्रिकेट में और यह लगातार अच्छा खेल के ही हासिल किया जा सकता है।” कोहली ने कहा, “हमने तीन दिन तक यह किया, जिससे हमारा पलड़ा भारी था, लेकिन आपका मौसम पर नियंत्रण नहीं रहता।”

भारतीय कप्तान ने कहा, “पांचवें दिन वेस्टइंडीज ने शानदार बल्लेबाजी की। उन्होंने अपने आप को अच्छी तरह काबू किया। लेकिन हमारे गेंदबाजों ने अपना सर्वश्रेष्ठ दिया। आपने शायद ही देखा हो कि गेंद रिवर्स स्विंग हो रही हो, अच्छी तरह स्विंग कर रही हो और पिच धीमी हो रही हो।” उन्होंने कहा, “जब यह तीन चीज एक साथ होती हैं और बल्लेबाज अपना सब कुछ लगा देते हैं तो विकेट लेना मुश्किल हो जाता है। गेंदबाजों की यह अच्छी परीक्षा थी। ऐसे हालात दोबारा आएंगे। हमने पांचवें दिन से काफी कुछ सीखा है और आने वाले टेस्ट मैचों में इसे उपयोग में लाएंगे।”