भारतीय गोल्फर भुल्लर ने मकाऊ ओपन में जीता गोल्ड मेडल

मकाउ। मकाउ ओपन चैंपियनशिप में एक बार फिर गोल्फर गगनजीत भुल्लर ने गोल्ड मेडल अपने नाम कर लिया है। मैच के दौरान तीन शॉट की जीत दर्ज करते हुए भुल्लर ने अपना आठंवा एशियाई टूर खिताब हासिल किया। गोल्ड मेडल हासिल करने के बाद भुल्लर ने लगातार दूसरी बार मकाऊ ओपन ट्रॉफी में अपना नाम दर्ज कर लिया है। इससे पहले उन्होंने साल 2012 में इस खिताब को जीता था। भुल्लर को 5 लाख डॉलर की राशि वाली इस प्रतियोगिता के अंतिम दिन रोकना जरूरी था। उन्होंने आखिरी दिन अंडर 68 का कार्ड खेला जिससे उनका कुल स्कोर 13 अंडर 271 का रहा। 

वहीं अन्य भारतीय गोल्फरों में पिछले दो हफ्तों में ताईवान और जापान में जो खिताब जीतने वाले अजीतेश संधु ने अंतिम दौर में एक अंडर 70 कार्ड खेला जिससे वह 10 अंडर 274 के कुल स्कोर से संयुक्त दूसरा स्थान हासिल करने में सफल रहे. इस तरह दो भारतीय गोल्फरों ने शीर्ष तीन में जगह बनाई। संधु  फिलीपींस के एंजेलो क्यू (69) के साथ संयुक्त रूप से उप विजेता रहे।

गौरतलब है कि भुल्लर बीती रात एक शॉट की बढ़त बनाये थे, लेकिन आज उन्होंने शानदार कार्ड खेलकर यह खिताब जीता। पंजाब में कपूरथला के 29 वर्षीय गोल्फर ने इस तरह अर्जुन अटवाल और ज्योति रंधावा के रिकॉर्ड की बराबरी की जिन्होंने एशिया टूर में आठ जीत दर्ज की हैं। भुल्लर ने एशियाई टूर पर खिताब एक साल पहले एशिया टूर बैंक बीआरआई-जेसीबी इंडोनेशिया ओपन 2016 में जीता था. उनके नाम अब 9 अंतरराष्ट्रीय जीत दर्ज हो गयी हैं, जिसमें एक यूरोपीय चैलेंजर टूर खिताब भी शामिल है। दिलचस्प बात है कि यह तीसरी बार जब किसी भारतीय ने मकाऊ ओपन खिताब जीता है। बताते चलें कि  भुल्लर ने 2012 में और अनिर्बान लाहिड़ी ने 2014 में खिताब जीते थे।