IAF ने डोकलाम विवाद के बीच तैनात किए भारतीय सुपर हरकुलिस विमान

नई दिल्ली। भारत और चीन के बीच चल रहे डोकलाम विवाद को लेकर इंडियन एयरफोर्स ने अपने पानागढ़ स्थित अर्जन सिंह एयरफोर्स स्टेशन पर 130j सुपर हरकुलिस विमान की तैयारी की है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक इन विमानों के लिए पिछले दो साल से लोकहीड मार्टिन के इंजीनियर हैंगर बना रहे थे। वहीं इन विमानों की तैनाती से अब एएफएस अर्जन सिंह की नॉर्थ ईस्ट के राज्यों तक पहुंच बढ़ेगी साथ ही लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल के सटे इलाकों में भी छोटे रनवेज पर यह विमान उतारा सकेगा।

indian airforce, deploy, super hercules, panagarh base
super hercules panagarh base

बता दें कि कोलकाता से 150 किमी दूर पानागढ़ का एयरफोर्स स्टेशन का दूसरा बेस बन गया है। जहां C-130J सुपर हरकुलिस विमान तैनात होंगे। इसके पहले केवल गाजियाबाद के हिंदन एयरफोर्स बेस पर C-130J एयरक्राफ्ट तैनात रहेंगें। आईएएफ के एक सीनियर ऑफिसर ने बताया कि इल्यूशिन Il-78 मिड एयर रिफ्यूलर पानागढ़ एयरबेस पर मौजूद है। C-130J सुपर हरकुलिस के विमान आने से ईस्टर्न एयर कमांड (EAC) पर मजबूती मिलेगी। सुपर हरकुलिस विमान की ख़ास बात यह है कि यह शॉर्ट नोटिस में सैन्य दलों को कठिन इलाकों में पहुंचा सकता है।

वहीं यूनाइटेड स्टेट आर्मी एयरफोर्स ने एएफएस पानागढ़ को 1944 में स्थापित किया था। वहीं इसका इस्तेमाल आर्मी द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान चाइना, बर्मा और इंडिया के लिए करती थी। वहीं इसका नाम 2016 में बदलकर एयरबेस से एयर चीफ मार्शल अर्जन सिंह के नाम पर रखा गया। इस एयरबेस ने 1965 और 1971 के युद्ध में अहम भीमिका निभाई। इस वक्त के लिए इसे मिनिस्ट्री ऑफ़ सिविल एविएशन को हैंडओवर किया गया था। वहीं सरकार ने इसे मिनिस्ट्री ऑफ़ सिविल एविएशन से वापस लेकर C-130Js बेस में तब्दील कर दिया था।