सुरक्षा की गारंटी के बाद ही भारत जाधव के परिवार को भेजेगा पाकिस्तान: एमईए

नई दिल्ली। पाकिस्तान की जेल में बंद भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव कि पत्नी और मां को उनसे मिलने की इजाजत पाकिस्तान ने दी है, लेकिन भारत ने पाकिस्तान से जाधव की मां और पत्नी की सुरक्षा की गारंटी देने की मांग की है। कुलभूषण को जासूसी के आरोप में पाकिस्तान में फांसी की सजा सुनाई गई है। हालांकि अंतर्राष्ट्रीय अदालत ने इसके अमल पर रोक लगाई हुई है।  विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि हमने पाकिस्तान को बता दिया है कि कुलभूषण की पत्नी अपनी सास के साथ उनसे मिलना चाहती है। इसी पक्ष को लेकर हमने पाकिस्तान से दोनों की सुरक्षा गांरटी की मांग की है। उन्होंने कहा कि जब तक पाकिस्तान ये गारंटी नहीं देगा तब तक भारत जाधव कि मां और पत्नी को पाकिस्तान नहीं भेजेगा।

गौरतलब है कि पाकिस्तान की मिलिटरी कोर्ट ने 10 अप्रैल 2017 को कथित भारतीय जासूस कुलभूषण जाधव को मौत की सजा सुनाई है। जाधव को जासूसी के आरोप में पिछले साल पाकिस्तान के बलूचिस्तान से गिरफ्तार किया गया था। पाकिस्तान का आरोप है कि जाधव पाकिस्तान में भारतीय खुफिया एजेंसी रॉ के लिए जासूसी कर रहे थे। जाधव को बलूचिस्तान से गिरफ्तार दिखाया गया था, जबकि वो ईरान में बिजनेस करते हैं। वहीं भारत ने जाधव को लेकर पाकिस्तान को कड़ी चेतावनी भी दी थी।

पाकिस्तानी सैन्य अदालत के इस फैसले के खिलाफ भारत अंतर्राष्ट्रीय कोर्ट भी गया था। भारत के पक्ष में फैसला सुनाते हुए अंतर्राष्ट्रीय अदालत ने कुलभूषण जाधव के फांसी पर अंतरिम रोक लगा दी थी। कुलभूषण जाधव को बचाने के लिए भारत एडी-चोटी का जोर लगा चुका है। इस मामले में पाकिस्तान को भारत ने चेतावनी देते हुए कहा था कि अगर भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव को सुनाई गई मौत की सजा पर अमल किया जाता है तो इसके गंभीर नतीजे होंगे।