ट्रंप शासनकाल में भारत-अमेरिका संबंधों को मिलेगी मजबूतीः सीन स्पाइसर

वाशिंगटन। भारत और अमेरिका के संबंधों को ओबामा सरकार के समय में मजबूती मिली जिसे ट्रंप सरकार कायम रखने का पूरा प्रयास करती नजर आ रही है। राष्ट्रपति बनने के कुछ दिनों बाद ही ट्रंप ने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से फोन पर बातचीत की। भारत के साथ संबंधों को और मजबूती देने को लेकर व्हाइट हाउस से जारी ताजा बयान में शीर्ष अधिकारी ने कहा है कि ट्रंप शासन के दौरान दोनों देशों के संबंधों को और मजबूती देने का प्रयास किया जाएगा।


व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव सीन स्पाइसर ने एक सम्मेलन के दौरान कहा कि जिस मधुर संबंध को छोड़कर पूर्व राष्ट्रपति ओबामा गए हैं, ट्रंप के शासनकाल में उन संबंधों को और मजबूती देने का प्रयास किया जाएगा। उन्होंने कहा है कि इस संबंध में पहल करते हुए राष्ट्रपति ट्रंप ने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बातचीत की।

यहां पर आपको बता दें कि इससे पहले भी दोनों देशां के संबंधो को लेकर पहल की जाती रही है। एक अन्य सवाल के जबाब में व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव ने कहा है कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पहले ह इस बात को लेकर खुशी जाहिर कर चुके हैं कि भारतीय मूल की निकी हेली को अमेरिका में राजदूत पद के लिए मंजूरी दी गई है, उन्होंने कहा है कि दोनों देशों के संबंधो में आने वाले वर्षो में और तेजी देखने को मिल सकती है।