भारत को प्रदर्शन में निरंतरता रखने की जरूरत : कोहली

पोर्ट ऑफ स्पेन। भारतीय टेस्ट टीम के कप्तान विराट कोहली ने वेस्टइंडीज के खिलाफ गुरुवार से शुरू हो रहे चौथे टेस्ट मैच से एक दिन पहले कहा कि उनकी टीम टेस्ट रैंकिंग में दोबारा शीर्ष पर पहुंचने के बाद ज्यादा उत्साहित नहीं है। कोहली ने साथ ही टीम के निरंतर अच्छा प्रदर्शन करने पर भी जोर दिया है। श्रीलंका ने बुधवार को आस्ट्रेलिया को तीन टेस्ट मैचों की श्रृंखला में 3-0 से मात देकर उसे आईसीसी टेस्ट टीम रैंकिंग से अपदस्थ कर दिया, जिसके बाद भारत टेस्ट में शीर्ष रैंकिंग पर पहुंच गया है।

virat kholi

अपनी शीर्ष रैंकिंग को बनाए रखने के लिए भारत को वेस्टइंडीज के खिलाफ होने वाले चौथे और अंतिम टेस्ट मैच में जीत हासिल करना बेहद जरूरी है।भारत ने मेजबानों को पहले टेस्ट में पारी और 92 रनों से मात दी थी। दूसरा टेस्ट मैच ड्रॉ रहा था। तीसरे टेस्ट मैच में भारत ने वेस्टइंडीज को 237 रनों से हराकर श्रृंखला अपने नाम कर ली थी। कोहली ने बुधवार को कहा, “पिछले साल भी हम दक्षिण अफ्रीका को हटाकर इसलिए नंबर एक टीम बने थे क्योंकि एक अन्य टीम हार गई थी। टेस्ट क्रिकेट में सर्वश्रेष्ठ टीम बनने के लिए आपको तीन-चार साल तक लगातार अच्छा खेलने की जरूरत है। यह तुरंत और कम समय तक का ईनाम है।”

भारतीय कप्तान ने कहा, “यह अच्छा है, लेकिन एक टीम के तौर पर ज्यादा कुछ नहीं बदलेगा। हमारा लक्ष्य अच्छी क्रिकेट खेलना है और हमने पिछले एक साल में ऐसा किया है। हम इसे आगे भी जारी रखना चाहते हैं।”कोहली ने कहा, “विश्व की सर्वश्रेष्ठ टीम बनने के लिए आपको लंबे समय तक अच्छी क्रिकेट खेलनी होती है। हमने अच्छी क्रिकेट खेली है इसलिए हम नंबर एक टीम बने हैं, लेकिन हमने दूसरी टीमों के मुकाबले कम मैच खेले हैं।” उन्होंने कहा, “हम अगर ज्यादा मैच खेलेंगे तभी हमें परखना चाहिए कि हमने अच्छी क्रिकेट खेली है या नहीं। लेकिन हमें सत्र के अंत में पीछे मुड़ कर देखना होगा की हमने किस तरह की क्रिकेट खेली है और हम कहां खड़े हैं।”