14 दिसंबर से भारत और रुस करेंगे नौसेनिक अभ्यास

मॉस्को| रूसी और भारतीय नौसेना का संयुक्त युद्धाभ्यास 14 से 21 दिसंबर तक चलेगा। एक अधिकारी ने यहां यह जानकारी देते हुए बताया कि इसका कूट नाम इंद्रा नेवी-2016 है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने रूसी प्रशांत महासगरीय समुद्री बेड़ा के प्रवक्ता व्लादिमीर मैतवीव के हवाले से कहा है कि दो चरणों के इस अभ्यास का बंदरगाह चरण (हार्बर फेज) 14 से 18 दिसंबर तक विशाखापत्तन से चलेगा और समुद्री चरण (सी फेज) 19 से 21 दिसंबर तक बंगाल की खाड़ी में चलेगा।

india-russia

बंदरगाह चरण में टेबल-टॉप अभ्यास, समुद्र तट पर योजनाओं पर वार्तालाप, अधिकारियों की एक-दूसरे से अदला-बदली और खेल व संस्कृति के कार्यक्रम होंगे। टेबल-टॉप अभ्यास वे अभ्यास होते हैं, जिनमें खास अधिकारियों को दी गई आपातकालीन प्रबंधन से जुड़ी महत्वपूर्ण भूमिकाओं एवं जिम्मेदारियों की जानकारी विचार-विमर्श के लिए एकत्र किया जाता है।प्रवक्ता के मुताबिक, सी फेज में विभिन्न जहाजी बेड़ों का संचालन होगा। दोनों देश वर्ष 2003 से कई आतंक विरोधी अभ्यास कर चुके हैं। वर्ष 2005 में इस तरह के अभ्यासों का नाम इंद्र रखा गया। इंद्र अभ्यास वर्ष 2007, 2014 और 2015 में भी हुए थे।