अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में रूसी हैकरों ने की थी 21 राज्यों में हेरा-फेरी

वाशिंगटन। सीनेट इंटेलिजेंस कमेटी के सामने गवाही देते हुए एक अधिकारी ने राष्ट्रपति चुनाव के दौरान रूसी हैकरों द्वारा 21 राज्यों को निशाना बनाने की बात कही है। यह जानकारी मीडिया रिपोर्ट से मिली। जिसमें ये साफ हुआ है कि राष्ट्रपति चुनाव में रूसी हैकरों ने हेरा फेरी की है। अधिकारी का कहना है कि राष्ट्रपति चुनाव से जुड़े सिस्टम को निशाना बनाया था। जिससे ट्रंप को चुनाव जीतने में मदद मिली थी।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक जेनेट मेन्फ्रा अमरीका के डिपार्टमेंट ऑफ होमलैंड सिक्योरिटी के सायबर सिक्योरिटी शाखा से जुड़ी हैं। उन्होंने कहा कि रूसी हैकरों ने चुनाव के दौरान 21 राज्यों में हैकिंग को अंजाम दिया लेकिन इन राज्यों के नाम बताने से इन्कार कर रहा है। इस वक़्त हमारे पास सबूत मौजूद हैं जो बताते हैं कि 21 राज्यों में चुनाव से जुड़े सिस्टमों को निशाना बनाया गया था।

हालांकि, अमरीकी खुफिया एजेंसियों को लगता है कि रूस ने चुनाव में छेड़छाड़ करके राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप को चुनाव जीतने में मदद की है। व्हाइट हाउस के प्रवक्ता शॉन स्पाइसर ने कहा कि राष्ट्रपति ट्रंप, रूसी हैकिंग के मुद्दे पर क्या राय रखते, उन्हें नहीं पता है। उन्होंने कहा कि मैंने अब तक उनके साथ इस बारे में कोई बात नहीं की है।’ रूस बीते काफी समय से ऐसे आरोपों का खंडन करता आया है। इसके साथ ही अमरीकी राष्ट्रपति ट्रंप भी ऐसे आरोपों को सिरे से नकार चुके हैं।