दावों की खुली पोल, विधानसभा में युवक ने किया आत्मदाह का प्रयास

लखनऊ। यूपी में विधानसभा चुनावों का बिगुल बजते ही प्रशासन ने कमर कस ली है। एक तरफ चुनावों की तैयारियां हैं तो दूसरी तरफ गणतंत्र दिवस के लिए सुरक्षा के इंतजाम। गणतंत्र दिवस के मौके पर यूपी के तमाम शहरों में पुलिस द्वारा सुरक्षा और कड़ी निगरानी का दावा किया जा रहा है, लेकिन प्रशासन के तमाम दावे फेल होते दिख रहे हैं।

लखनऊ में पुलिस प्रशासन की पोल उस वक्त खुल गई। जब भूमाफियाओं से प्रताड़ित अधेड़ व्यक्ति ने आज परेड रिहर्सल के बीच विधानसभा में आत्मदाह की कोशिश की। बताया जा रहा है कि ठाकुरगंज के मलाई टोला बालागंज का में रहने वाले बुजुर्ग मुन्ना (52) प्राइवेट नौकरी करता है।

आरोप है कि सपा पार्षद अनुराग पांडेय ने भूमाफियाओं के साथ मिलकर उसकी जमीन पर कब्जा कर लिया हैं। जब उसने न्याय की गुहार लगाई तो पुलिस ने भी कोई कार्रवाई नहीं की। जिसके बाद पीड़ित थाना, तहसील दिवस, अधिकारियों के कार्यालय आवास के चक्कर काटता रहा पर कोई सुनवाई नहीं हुई। भूमाफियाओं और दंबगो की उत्पीड़न से आहत होकर मंगलवार को वह विधानसभा पहुंच गया और केरोसीन डालकर खुद को आग के हवाले कर लिया। पीड़ित ने वारदात को उस समय अंजाम दिया जब गणतंत्र दिवस के परेड रिहर्सल चल रही थी। मुस्तैद पुलिस कर्मियों ने अधेड़ को बचाया और थाने ले आये। चौकी इंचार्ज संजय कुमार गुप्ता ने बताया कि पीड़ित की पूरी बात सुनकर संबंधित थाने में भेज दिया गया हैं।