सपा में चुनाव चिन्ह के बाद सदस्यता शुल्क पर मचा बवाल

संभल। विधानसभा चुनावों से पहले समाजवादी पार्टी ने सदस्यता शुल्क वसूलने के लिए सख्त तेवर दिखाने शुरू कर दिए हैं। बकाया शुल्क वसूलने के लिए सपा प्रदेश अध्यक्ष ने संभल जिले के जिला संगठन पर बकाया वसूलने के लिए सपा जिलाध्यक्ष को को कडा पत्र लिखा तो वही जिलाध्यक्ष ने भी विधायकों पर रकम बकाया होने की बात कहते हुए विधायक लक्ष्मी गौतम को बकाया ढाई लाख रुपए तीन दिन में जमा कराने के लिए नोटिस जारी कर दिया। इस नोटिस के बाद सपा जिलाध्यक्ष और विधायक लक्ष्मी गौतम के बीच जुबानी जंग छिड़ गई है।

ये भी पढ़ेंः यूपी में लोकसभा चुनाव जैसा इतिहास रच पायेगी भाजपा ?

गौरतलब है कि समाजवादी पार्टी ने तीन साल पहले 2014 मे सदस्यता अभियान शुरू किया था। उस समय जनपदों के जिला संगठनों को सदस्यता बुकलेट जारी की गयी थी। संभल जिले के जिलाध्यक्ष को भी सपा मुख्यालय से 1600 सदस्यता बुक दी गयी थी। जिनका शुल्क आठ लाख रुपए बनता है लेकिन तीन साल बाद भी सदस्यता बुकों की बकाया धनराशि को सपा प्रदेश कार्यालय में नहीं जमा कराया गया है। संभल जनपद से अभी 5 लाख रुपए जमा कराया गया है लेकिन तीन लाख रुपए अभी बकाया चल रहा है।

सपा के तत्कालीन प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल यादव ने संभल जिले के जिलाध्यक्ष को पत्र लिखकर नाराजगी जताते हुए पंद्रह जनवरी तक बकाया जमा कराने के लिए कहा है तो वही सपा जिलाध्यक्ष फ़िरोज़ खा ने भी विधायक लक्ष्मी गौतम को पत्र लिखकर बकाया ढाई लाख रुपए जमा कराने के लिए नोटिस भेजा है। वही जिलाध्यक्ष फ़िरोज़ खा का कहना है कि अगर बकाया शुल्क नहीं जमा कराया गया तो कानूनी कार्यवाही की जायेगी।
 सद्दाम हुसैन, संवाददाता