उत्तराखंड के हरिद्वार का मामला, जब अपने ही बेटे को मां ने बेचा !

हरिद्वार। हरिद्वार में किराये के मकान में रह रही एक कलयुगी मां ने अपने तीन माह के बेटे को चार लोगों में एक लाख 70 हजार रुपये में बेच दिया। जब पति को इस बात पता चला तो उसने कोर्ट में दरख्वास्त की। कोर्ट के आदेश के बाद मुकदमा दर्ज हुआ है। जानकारी के अनुसार, रवि कुमार पुत्र धर्मवीर निवासी मुजफ्फरनगर, उत्तर प्रदेश ने बहादराबाद थाने में मुकदमा दर्ज कराया है। बताया कि वह मुजफ्फरनगर में नौकरी करता था, जबकि उसकी पत्नी सोनिया शिवालिक नगर में किराये के मकान में रहती थी। उसका तीन महीने का बेटा नदिया है।

रवि ने आरोप लगाया कि 30 जुलाई 2016 उसकी पत्नी ने बेटे नदिया को चार लोगों को एक लाख 70 हजार रुपये में बेच दिया था। इस बात की जानकारी मिलने पर रवि कुमार ने पत्नी व बच्चे को खरीदने वाले लोगों के विरुद्ध कार्रवाई के लिए बहादराबाद पुलिस को तहरीर दी थी। लेकिन पुलिस ने आरोपियों के विरुद्ध कार्रवाई नहीं की, जिस पर रवि कुमार ने न्यायालय में प्रार्थना पत्र दिया था। प्रार्थना पत्र पर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने बहादराबाद पुलिस को मुकदमा दर्ज करने के आदेश दिए हैं।

पुलिस ने कोर्ट के आदेश पर जिन लोगों के विरुद्ध बच्चे को बेचने व खरीदने का मुकदमा दर्ज किया, उनमें सोनिया पुत्री बिट्टू ग्राम बौंगला थाना बहादराबाद, करण पत्नी पी. दास निवासी शिवालिक नगर, सुरेखा पत्नी शिव चरण निवासी रामधाम कालोनी, पारस राम व उसकी पत्नी रेखा निवासीगण मुरादाबाद (उत्तर प्रदेश) शामिल हैं। एसओ मणिभूषण श्रीवास्तव ने बताया मामले की जांच के बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।