अगस्ता मामले में पूर्व रक्षा मंत्री की सफाई कहा छिपाने या डरने वाली कोई बात नहीं

नई दिल्ली| पूर्व रक्षा मंत्री ए. के. एंटनी ने गुरुवार को कहा कि अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर सौदे में तत्कालीन संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) सरकार का कोई भी छिपा हुआ राज नहीं है। संसद के बाहर एंटनी ने कहा, “हमारे पास छिपाने के लिए कुछ नहीं है, हमें डरने की कोई जरूरत नहीं है, इसमें हमारी कोई भूमिका नहीं है। हमारे लिए यह बिलकुल स्पष्ट है।

ak-antony

एंटनी ने कहा, “कई बार मैंने संसद में सभी दस्तावेजों के साथ सब कुछ समझा दिया है। यह हमारी सरकार थी जिसने सीबीआई जांच का आदेश दिया और इसका ठेका निरस्त कर दिया। साथ ही मामला दायर कर पैसे भी वापस लिए।एंटनी ने मोदी सरकार पर इस मुद्दे को ‘बांटने की रणनीति’ के तौर पर इस्तेमाल करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा, “यह सरकार जब भी मुश्किल में होती है, वे बांटने की रणनीति अपनाने लगते हैं।”

कांग्रेस नेता ने कहा कि पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी का हेलीकॉप्टर सौदे से कुछ भी लेना-देना नहीं है। उन्होंने कहा, “सोनिया जी का इससे कुछ लेना-देना नहीं है, क्योंकि इस हेलीकॉप्टर का इस्तेमाल राष्ट्रपति, उप राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री के लिए होना है। उन्होंने कहा, “इसकी खरीद भारतीय वायु सेना की 1999 से लगातार की जा रही मांग की वजह से की गई थी।” पूर्व वायु सेना प्रमुख एस.पी. त्यागी की गिरफ्तारी पर एंटनी ने कहा, “उन्हें जांच पूरी करने दीजिए। सच को बाहर आने दीजिए। भाजपा त्यागी की गिरफ्तारी के बाद से संसद में आक्रामक रूप से अगस्ता वेस्टलैंड मामले को उठा रही है।