कहीं आपका बच्चा भी तो नहीं हो रहा मोटापे का शिकार, पढ़े ये खबर…

नई दिल्ली। बच्चों में मोटापा आजकल के समय में एक बड़ी समस्या बनती जा रही है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक दुनिया-भर में करीब 2 करोड़ 20 लाख बच्चों का वजन औसतन ज्यादा है जिनकी उम्र 5 साल से भी कम है। इतनी छोटी सी उम्र में इस तरह की भीषण बीमारी से ग्रसित होने के कारण आगे चलकर इसका रूप और भी विकराल होता जाता है। आखिर क्यूं होती है ये बीमारियां, आइए जानते हैं इसके कारण-

– बच्चों में बढ़ती इस मोटापे की बीमारी की वजह हाई ब्लड प्रेशर का होना भी है। आजकल बड़ों के अलावा छोटी उम्र में भी इस बीमारी हाई ब्लड प्रेशर की परेशानी आम हो गई है।

– आज दुनिया भर में जिस तरह बच्चे मोटापे का शिकार हो रहे हैं, इसकी एक वजह हो सकती है उनके जीन्स। मतलब, उन्हें यह बीमारी शायद अपने माता-पिता से मिली हो। लेकिन पिछले कुछ दशकों में मोटे बच्चों की गिनती लगातार बढ़ती जा रही है।

– मोटापे की वजह के बारे में अमरीका के एक निजी चिकित्सालय का मानना है कि बच्चों में मोटापे की वजह जीन्स और हार्मोंस हैं, लेकिन उनके ज्यादा वजन बढ़ने की खास वजह खाने पीने की चीजों पर नियंत्रण का न होना है इसके अलावा बच्चे कसरत और व्यायाम में भी रूचि नहीं दिखाते।

– इसके अलावा आज नौकरी और बिजनेस के चलते माता-पिता के पास बच्चों के पास देख-रेख का समय भी नहीं होता जिसके कारण बच्चे कुछ भी खाते पीते रहते हैं और उनके सामने सबसे अच्छा आप्शन फास्ट फूड होता है जो कि टेस्ट के चलते उन्हें पसंद आता है।

– आधुनिक लाइफस्टाइल को ग्रहण करते-करते आजकल बच्चे घर के खाने की अहमियत और उसके फायदों को भूलते जा रहे हैं। पीने में पानी की जगह कोल्ड ड्रिंक ने ले ली है।

अपनाएं ये उपाय-

– फास्ट फूड खिलाने के बजाय, फल और सब्जियां खरीदिए बच्चों को खिलाइए।

– सॉफ्ट-ड्रिंक, शरबत और ज्यादा मीठे और चिकनाई वाले नाश्ते पर रोक लगाइए। इसके बजाय, बच्चों को पानी या बिना मलाईवाला दूध और पौष्टिक नाश्ता खिलाएं।

– खाना पकाने मे कम घी तेल का इस्तेमाल करें, सेंकने और भूनने के बजाय भांप में पका खाना खाएं।

– पूरा परिवार मिलकर कहीं बाहर घूमने जरूर जांए जैसे कि चिड़िया घर देखना, पार्क में खेलना या तैराकी के लिए जाना। इससे शारीरिक रूप से कुछ कसरत होगी और मोटापा कम करने में मदद मिलेगी।