अगर आप भी अच्छी शराब के चक्कर में जाते हैं बार तो जरूर पढ़ें ये खबर

नई दिल्ली। अगर आप भी अच्छी शराब पीने के चक्कर में बड़े बार में जाते हैं तो वहां जाने से पहले ये खबर जरूर पढ़ ले। दरअसल गुड़गांव का रहने वाले 30 साल का एक युवक बार में अच्छी शराब पीने के लिए गया लेकिन उसे अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा। दरअसल, वह शराब के धोखे में एक ऐसा केमिकल पी गया, जिससे उसके पेट में बड़ा सा छेद हो गया। इसके कारण उसे सांस लेने में परेशानी होने लगी, पेट फूल गया था और तेज दर्द हो रहा था।

बता दें कि कि वह जिस ड्रिंक को ले रहा था उसमें से सफेद रंग का धुआं निकल रहा था। दरअसल सफेद धुआं कुछ और नहीं बल्कि लिक्विड नाइट्रोजन थी। युवक ने कहा कि उसे नहीं पता था कि ड्रिंक में लिक्विड नाइट्रोजन है, वह बस मजे के लिए अलग तरह का ड्रिंक लेना चाह रहा था। ड्रिंक लेते ही उसे बेचैनी होने लगी। इसके बावजूद उसने दूसरा ड्रिंक भी पी लिया।

कुछ ही देर में उसके पेट में सूजन शुरू हो गई और उसे असहनीय दर्द होने लगा। युवक को सांस लेने में भी दिक्कत होने लगी। तबीयत ज्यादा बिगड़ जाने के बाद उसे गुड़गांव के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया। जब डॉक्टरों के उसकी सर्जरी की तो उन्हें उसके पेट में एक बड़ा सा छेद दिखा। डॉक्टरों के मुताबिक युवक के पीने के बाद लिक्विड नाइट्रोजन को निकलने का रास्ता नहीं मिला, इसी वजह से पेट में बड़ा सा छेद हो गया।

आखिरकार डॉक्टरों ने पेट के क्षतिग्रस्त हिस्से को हटा दिया। दरअसल लिक्विड नाइट्रोजन का इस्तेमाल ड्रिंक्स को फ्रीज करने के लिए किया जाता है। 20 डिग्री सेल्सियस तापमान पर इसका विस्तार अनुपात 1:694 होता है। यानी 20 डिग्री सेल्सियस ताप पर एक लीटर लिक्विड नाइट्रोजन गैस फैलकर 694 लीटर हो जाती है। जैसे ही यह गैस भाप में बदलती है, यह अपने आस-पास की सभी चीजों को फ्रीज कर देती है, फिर चाहे वह टिशू ही क्यों न हो।