डीएनए नमूने से किम जोंग नम की पहचान की हुई पुष्टि

कुआलालंपपुर। डीएनए नमूने के आधार पर मलेशियाई सरकार ने मृत किम जोंग नम की पहचान की पुष्टि कर दी है। ये नमूने नम के बच्चों से लिए गए थे। ये बातें उप प्रधानमंत्री अहमद जाहिद हमिदी ने बुधवार को कहीं।

उल्लेखनीय है कि किम जोंग नम उत्तर कोरिया के शासक किम जोंग नम के सौतेले भाई थे और पिछले महीने कुआलालंपपुर हवाई अड्डे पर दो महिलाओं ने उनके चेहरे पर जहरीला रासायनिक पदार्थ वीएक्स नर्व एजेंट लगा दिया था जिससे उनकी मौत हो गई थी। जब नम की हत्या हुई थी उस समय उनके पास किम चोई के नाम का पासपोर्ट था।वर्षों पहले निर्वासन में जाने के बाद वह बीजिंग के संरक्षण में अपनी दूसरी पत्नी के साथ चीन के मकाऊ इलाके में रहते थे। नम अपने परिवार के वंशवादी शासन के खिलाफ अक्सर सार्वजनिक रूप से बोला करते थे।

उल्लेखनीय है कि नम की हत्या के बाद जांच रिपोर्ट की सत्यता और शव सौंपने को लेकर मलेशिया और उत्तर कोरियाई के बीच राजनयिक संबंध बहुत खराब हो गए हैं। दोनों देशों ने एक दूसरे के राजदूतों अवांछित घोषित कर देश से निष्कासित कर दिया था। संबंध सामान्य बनाने के लिए दोनों देशों के बीच औपचारिक वार्ता गत सोमवार को शुरू हुई।