आइडिया सेलुलर और वोडाफोन इंडिया का जल्द हो सकता है मर्जर

नई दिल्ली/ मुंबई। वोडाफोन समूह ने इस बात की पुष्टि की है कि वोडाफोन इंडिया को भारत के आदित्य बिड़ला समूह की टेलिकॉम कंपनी आइडिया सेलुलर में मिलाए जाने को लेकर बातचीत चल रही है। मतलब आइडिया सेलुलर आने वाले समय में वोडाफोन इंडिया को खरीद सकता है। वोडाफोन इंडिया अंर्तराष्ट्रीय टेलिकॉम कंपनी वोडाफोन समूह की भारतीय शाखा है।

सोमवार को वोडाफोन समूह ने बयान जारी करते हुए बताया कि वोडाफोन इंडिया को भारतीय टेलिकॉम कंपनी आइडिया सेलुलर के साथ मिलाए जाने को लेकर सौदे पर बात हो रही है। फिलहाल ये सिर्फ बातचीत के लेवल पर ही है। इस डील में इंडस टॉवर में वोडाफोन के 42 फीसदी शेयर शामिल नहीं होंगे। फिलहाल इस सौदे की कीमत को लेकर कुछ नहीं कहा जा सकता। आइडिया सेलुलर कितने में वोडाफोन इंडिया को खरीदेगा, इसका अभी खुलासा नहीं हुआ है। साथ ही ये सौदा कब होगा, इसे लेकर भी वोडाफोन समूह ने कुछ भी बताने से इंकार कर दिया है।

टेलिकॉम सेक्टर के जानकारों के मुताबिक यदि आइडिया सेलुलर आने वाले समय में वोडाफोन इंडिया को खरीदता है, तो आदित्य बिड़ला समूह की ये टेलिकॉम कंपनी देश की सबसे बड़ी कंपनी हो जाएगी और इसका सीधा असर रिलायंस इंडस्ट्रीज़ लिमिटेड की हालिया लॉन्च टेलिकॉम सेवा ‘जीओ’ पर होगा। यदि सौदा होता है, तो आइडिया सेलुलर भारतीय टेलिकॉम बाजार के कुल कारोबार के 43 फीसदी पर कब्जा कर लेगी। साथ ही भारत के कुल मोबाइल उपभोक्ताओं में से 40 फीसदी आइडिया सेलुलर के पास होंगे।