हैदराबाद में निर्माणाधीन इमारत गिरी, रेस्क्यू ऑपरेशन जारी

हैदराबाद। हैदाराबाद के नानकरामगुडा में पिछली रात एक सात मंजिला भवन में आग लग गई, ताजा सूचनाओं के मुताबिक अब तक करीब 11 शवों को बाहर निकाला जा चुका है। बताया जा रहा है कि निर्माणाधीन बिल्डिंग में अचानक किसी वजह से आग लग गई जिसमें करीब 14 परिवार रहते थे, ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि अब भी कई लोग दबे हो सकते हैं। पुलिस ने हालांकि इस मामले में एक व्यक्ति को गिरफ्तार भी कर लिया है।

building-collaps
सूत्रों से प्राप्त हो रही जानकारियों के मुताबिक रेस्क्यू विभाग ने आनन फानन में बचाव कार्य शुरु कर दिया, भवन के मलवे से दो लोगों को सुरक्षित भी निकाला गया है, इसमें एक बच्चा भी शामिल है, दानों को अस्पताल में भर्ती करा दिया है, उनकी हालत स्थिर बनी हुई है। अभी तक इमारत के गिरने की वजह का पता नहीं चल पाया है।

बचाव कर्मियों को मलबा हटाने में 36 घंटे लग गए। सभी पीड़ित मजदूर थे। इमारत ढहने के समय मजदूर और उनके पारिवारिक सदस्य इमारत की कोठरी में सो रहे थे।  मरने वालों में आंध्रप्रदेश के विजयानगरम जिले के नौ और श्रीकाकुलम जिले के एक मजदूर शामिल हैं। छत्तीसगढ़ के एक मजदूर की भी मौत हुई है। मृतकों की पहचान ए.एन. समबैयाह (45), एन. पैदम्मा (40), एन. गौरी (13), के. पोलीनायडू (32), के. लक्ष्मी (26), आर. शंकर राव (18), पी. पोलीनायडू (35), पी. नारायनम्मा (28), और पी. मोहन (3) के रूप में हुई है।
श्रीकुलम से दुर्गा राव और छत्तीसगढ़ से शिवा भी मृतकों में शामिल हैं।

तेलंगाना सरकार ने मृतकों के परिवार को 10-10 लाख रुपये अनुग्रह राशि देने की घोषणा की है। राहत व बचाव कार्य की निगरानी करने वाले नगरनिगम प्रशासन मंत्री के.टी. रामा राव ने कहा कि पुलिस ने केरल में बिल्डर सत्यनारायण सिंह को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने उस पर बिना अनुमति निर्माण कराने, नियमों का उल्लंघन करने और गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज किया है। सरकार ने भी जीएचएमसी के उपायुक्त और सहायक नगर योजना अधिकारी को निलंबित कर दिया है। आईएएस नवीन मित्तल की अध्यक्षता में एक जांच समिति का गठन किया गया है, जो 15 दिन के भीतर रिपोर्ट सौपेंगी।