…तो क्या इंसान को छोड़नी पड़ जाएगी धरती!

लंदन। विश्व के मशहूर भौतिकशात्रियों में शुमार स्टीवन हॉकिंग ने दावा किया है कि धरती मनुष्य के लिए तेजी से खत्म हो रही है। एक अंग्रेजी बेवसाइट से बातचीत करते हुए स्टीवन हॉकिंग ने दावा किया है कि धरती पर जिस तरह से मौसम में बदलाव हो रहा है। साथ ही ऐस्टरॉइड्स के टकराने और बढ़ती जनसंख्या के खतरे के कारण आगामी 100 सालों में मनुष्य को धरती छोड़ने के लिए मजबूर होना पड़ेगा।

जल्द ही रिलीज होने वाली डॉक्यूमेंट्री ‘एक्पेडिशन न्यू अर्थ’ में स्टीफन हॉकिंग और उनके स्टूडेंट क्रिस्टोफ गलफर्ड ये पता लगाने की कोशिश करते नजर आएंगे कि आखिरकार अंतरिक्ष में एक मनुष्य कैसे रहता है और क्या अंतरिक्ष में रहकर जीवन संभव है। अंतर्राष्ट्रीय मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस डॉक्यूमेंट्री में हॉकिंग ने दावा किया है कि अगर मनुष्य को जिंदा रहना है तो उसे आने वाले दिनों में कोई नया ग्रह तलाशना होगा।

रिपोर्ट का ये भी कहना है कि स्टीफन हॉकिंग ने इस शो में लोगों से ये पूछा जाएगा कि आखिरकार उनके जीवन को सबसे ज्यादा किसने प्रभावित किया है, क्या वो विज्ञान से संभव हो पाया तकनीकी विकास है या फिर प्राकृतिक संसाधन।

बता दें कि पिछले महीने भी हॉकिंग ने चेताया था कि तकनीकी विकास के साथ मिलकर मानव की आक्रमाकता ज्यादा खतरनाक हो गई है। यही प्रवृति परमाणु या जैविक युद्ध के जरिए हम सबका विनाश कर सकती है। उनका कहना था कि एक वैश्विक सरकार ही इसे मनुष्यों को बचा सकती है।