प्रदेश में नव संवत्सर के भव्य स्वागत की तैयारियां

जयपुर।  राजधानी जयपुर में नव संवत्सर की तैयारियां शुरू हो गई हैं जिसका लोग भव्य स्वागत करने के लिए आतुर हैं। शहर में कई स्थानों पर नववर्ष के स्वागत के बैनर पोस्टर लगने लगे हैं और शहर को खास तरह से सजाया भी जा रहा है।

नव संवत्सर 2074 का प्रचार करने के लिए चार श्वेत अश्व जयपुर की हृदय स्थली बड़ी चौपड़ से जयपुर के प्रमुख संत महंत, प्रबुद्ध व्यक्तियों एवं विद्वान पण्डितों ने विधिवत श्री लक्ष्मीनारायण मंदिर में पूजा अर्चना कर रवाना किए।

यह अनूठा कार्यक्रम नवसंवत्सर के प्रति जागरूता लाने और नवसंवत्सर 2074 का प्रचार-प्रसार करने के लिए किया गया। जिसमें श्वेत अश्व (घोड़े) के दोनों तरफ नवसंवत्सर के बेनर लगे हुए हैं। आगे ढोल बज रहे हैं, घोड़े के उपर छतरी है और लोग नाचते गाते हुए साथ चल रहे हैं। संस्कृति युवा संस्था एवं ज्योतिष परिषद एवं शोध संस्थान की ओर से आयोजित इस कार्यक्रम में संस्कृति युवा संस्था के अध्यक्ष पण्डित सुरेश मिश्रा व अन्य कई लोग शामिल हुए।

संस्था के अध्यक्ष पण्डित सुरेश मिश्रा ने अपने हाथ से लगाम पकड़कर अलग-अलग दिशा में रवाना किया। यह अश्व जयपुर शहर के प्रमुख मंदिरों पर जाएंगे और नवसंवत्सर की जानकारी युवाओं को देने के लिए कार्यक्रर्ता पम्पलेट बांटते हुए चलेगें। इस अवसर पर महाण्डलेश्वर मंहत पुरुषोत्तम भारती, कांग्रेस नेता शरद खण्डेलवाल, सर्व ब्राह्यण महासभा के जयपुर शहर अध्यक्ष (युवा प्रकोष्ठ) दिनेश शर्मा, पार्षद मुकेश शर्मा, विक्रम स्वामी, पण्डित नन्दकिशोर शर्मा, मनोज जोशी, राजपूत परिषद के अध्यक्ष हरेन्द्रपाल सिंह जादौन, गौड़ ब्राह्यण महासभा के महामंत्री पवन गौड़ समेत बड़ी संख्या में कार्यकर्ता मौजूद रहे।