हांगकांग में लोकतंत्र समर्थक नेताओं को सजा

हांगकांग।  हांगकांग में लोकतंत्र समर्थक आंदोलन के नेताओं को सोमवार को दंडित किया गया। इस आंदोलन के तहत साल 2014 में कई जन रैलियां हुई थीं। बीबीसी के अनुसार, विरोध प्रदर्शनों का किशोर चेहरा जोशुआ वोंग (19) को गैर कानूनी सभा के आयोजन के लिए 80 घंटे की सामुदायिक सेवा की सजा सुनाई गई। वहीं नाथन लॉ (23) को 120 घंटे की सामुदायिक सेवा करने की सजा दी गई, जबकि एलेक्स चाउ (25) को तीन सप्ताह की सजा सुनाई गई, लेकिन उसकी सजा एक साल के लिए निलंबित कर दी गई, क्योंकि वह पढ़ाई के लिए विदेश जाना चाहता है।

hong -kong

ये तीनों अधिकतम दो साल जेल की सजा का सामना कर रहे थे। दैनिक अखबार ‘साउथ चाइना मॉर्निग पोस्ट’ के मुताबिक, पहले इन तीनों ने अपने ऊपर लगे आरोपों को स्वीकार करने से इनकार कर दिया था, लेकिन बाद में कहा कि वे घटना में उनकी भूमिका की जिम्मेवारी लेना चाहते हैं। न्यायाधीश ने कहा कि उनके कार्य स्वयं सेवा करने जैसे नहीं थे, लेकिन प्रदर्शनों की तुलना में मध्यम थे। प्रदर्शनों के कारण अशांति फैल गई थी।

तीनों की गिरफ्तारी के विरोध में बड़े पैमाने पर प्रदर्शन हुए थे, जिसे छाता आंदोलन के रूप में जाना गया। इस आंदोलन के कारण शहर के कई हिस्सों में जनजीवन ठहर गया था। आंदोलन में चीन से इस अर्ध स्वायत्तशासी क्षेत्र के नेताओं के लिए पूरी तरह स्वतंत्र चुनाव की मांग की गई थी। इस आंदोलन को हालांकि राजनीतिक सुधार के मामले में चीन से किसी तरह की रियायत नहीं मिल पाई।