…और जब थाने में हिस्ट्रीशीटर ने पुलिस थाने में मचाया तांडव

जोधपु। राजस्थान के जोधपुर के शास्त्रीनगर पुलिस थाने के एक हिस्ट्रीशीटर किशन डूडी ने सोमवार रात पाली जिले के रोहिट पुलिस थाने में घुसकर जोरदार तांडव मचाया। बताया जा रहा है कि अपने साथियों को लेकर स्कार्पियो के साथ थाने में घुसा और संतरी और हेड कांस्टेबल पर गाड़ी चढ़ाने का प्रयास किया।

यह लोग थाने की बैरक में बंद लूट के आरोपी को छुड़ाने के प्रयास में जुटे थे। मगर कामयाब नहीं होने पर फरार हो गए। अचानक हुई इस घटना से पाली जिला पुलिस हिल गई। बताया गया कि वापसी में इन्होंने एक बीकानेर के परिवार की कार को गलत साइड से जोरदार टक्कर मारी जिससे चार लोग घायल हो गए। सभी को पाली के बांगड़ अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। खुद किशन डूडी और उसके चार अन्य साथी भी घायल हो गए। इनमें दो को जोधपुर रेफर किया गया है। जबकि किशन डूडी और तीन का पाली में उपचार चल रहा है।

दरअसल बासवाड़ा का रहने वाला नितेश सोनी गत 02 मार्च को अपनी एसयूवी कार लेकर अपने किसी परिचित के साथ नागौर से बासवाड़ा की तरफ जा रहा था। वह सुनारी औजार की खरीद कर लौट रहा था। तब वह पाली मार्ग से होकर गुजरा। भुंडाणा के पास में रात के समय एक स्कार्पियो में सवार होकर कुछ लोगों ने उसके साथ मारपीट कर कार लूट ली।

इस संबंध में रोहिट थाने में लूट का प्रकरण दर्ज हुआ था। तब पुलिस ने तफ्तीश करते हुए कल जोधपुर के पीपाड़ शहर में कांगल निवासी सुरेंद्र उर्फ बबलू पुत्र राजूराम जाट को गिरफ्तार कर थाने लाई। कल उससे पूछताछ चल रही थी। पुलिस पूछताछ में उसने अपने कुछ साथियों के नाम उक्त लूट में शरीक होना बताया।

इसमें जोधपुर के शास्त्रीनगर थानान्तर्गत पीली टंकी पाली रोड निवासी किशन उर्फ हरेंद्र डूडी जाट का नाम सामने आया। साथ अन्य लोगों का पता लगा। किशन डूडी को जब पता लगा कि उसके साथी सुरेंद्र जाट को पुलिस पकड़ कर ले गई है, तब वह कल रात 10.25 बजे के आस पास अपने चार पांच साथियों को लेकर पाली में रोहिट थाने पहुंचा।

पुलिस ने बताया कि किशन डूडी ने दनदनाते हुए स्कार्पियो को थाने में घुसाया और तैनात संतरी भरत कुमार द्वारा रोके जाने की कोशिश की गई। तब उस पर गाड़ी चढ़ाने का प्रयास किया। इतना ही नहीं किशन डूडी ने थाने के बगीचे के चारों तरफ स्कार्पियो में काफी चक्कर लगाए। जब हेड कांस्टेबल सत्य नारायण ने उसे रोकने का प्रयास किया तब उस पर भी गाड़ी चढ़ाने का प्रयास किया।एक कांस्टेबल ने उसकी हरकत को रोकने के लिए थाने में बेरियर लगाया तब वह बेरियर तोड़ कर भाग गया।

किशन डूडी ने बाद में गाड़ी को पाली की तरफ भगा दिया। इस पर पाली पुलिस कंट्रोल रूम और उच्चाधिकारियों को इसकी सूचना पर नाकाबंदी करवाई गई। तब वह पाली के जाने वाले रास्ते नाकाबंदी देखकर फिर रोहिट की तरफ आया और बेरियर को तोड़कर भाग गया।
पुलिस ने बताया कि वह फिर रोहिट से जोधपुर की तरफ गाड़ी को भगाने लगा तब पाली वाला रास्ता भटक गया और बीकानेर से पाली की तरफ आ रही एक परिवार की डस्टर को टक्कर मार दी। इस कार में बीकानेर का लक्ष्मण सुथार परिवार सहित था। जिसमें एक महिला व दो बच्चे और खुद लक्ष्मण सुथार घायल हो गए।

रोहिट पुलिस ने इस घटना में फायरिंग से इंकार किया है। बताया कि किशन डूडी ने थाने में घुसकर आरोपी सुरेंद्र जाट को छुड़ाने के प्रयास में आया था, मगर वह बैरक में होने से छुड़ाने में कामयाब नहीं हो सका।