विसर्जन-मुहर्रम विवाद पर हाईकोर्ट ने ममता सरकार को लगाई फटकार, ‘पैदा ना करें धार्मिक दरार’

बुधवार को कलकत्ता हाईकोर्ट की तरफ से पश्चिम बंगाल की ममता सरकार को विसर्जन विवाद को लेकर कड़ी फटकार लगाई गई है। कोर्ट की तरफ से ममता सरकार को दो समुदाय के बीच हिंसा ना फैलाने को कहा गया है। हाईकोर्ट ने कहा कि दुर्गा पूजा और मुहर्रम को लेकर दो समुदाय के बीच तनाव की स्थिति नहीं बनी है, उन्हें साथ रहने दीजिए।

mamta banerjee

इस मामले में होईकोर्ट की दखलअंदाजी के बाद ममता सरकार को मूर्ति विसर्जन की तय समय सीमा को बदलना पड़ गया था। सरकार की तरफ से विसर्जन की समय सीमा को 6 बजे से बढ़ा कर 10 बजे तक कर दिया था। बता दें कि 23 अगस्त को ममता बनर्जी ने ट्वीट किया था जिसमें कहा गया था कि अगले दिन मुहर्रम है इसलिए मूर्ति विसर्जन केवल 6 बजे तक ही होगा। मूर्ति विसर्जन को लेकर हाईकोर्ट में ममता बनर्जी के फैसले के खिलाफ याचिका दायर की गई थी।

ममता सरकार ने मूर्ति विसर्जन 2 तारीख से किए जाने को कहा था। जिसके खिलाफ यूथ बार एसोसिएशन ऑफ इंडिया द्वारा ममता सरकार के फैसले के खिलाफ याचिका दायर की गई थी। याचिका में सीएम ममता बनर्जी के ट्वीट का जिक्र करते हुए कहा गया था कि समुदाय के तुष्टिकरण के लिए यह धार्मिक लिहाज से ठीक नहीं किया जा रहा है। याचिका में इसे धारा 14, 25 तथा 26 का उल्लंघन भी बताया गया था।