दुकानों के निर्माण को लेकर जारी है हाई प्रोफाइल ड्रामा

सिंगाही-खीरी। कस्बे के बस स्टैंड पर नगर पंचायत और एक सर्राफा व्यापारी व नगर पंचायत के बीच दुकानों के निर्माण को लेकर चल रहा हाई प्रोफाइल ड्रामा जारी है। मामला न्यायालय में होने बाद जहां एक ओर सर्राफा व्यापारी तिरपाल लगाकर काम करवा रहे हैं वहीं नगर पंचायत ने भी यात्री प्रतीक्षालय बनाने के लिए विवादित स्थल पर ईंट उतरवा दी है।
प्रदेश में बनी नई सरकार भले ही सबकुछ सुधारने की बात कहती रहे लेकिन यहां के लोग सुधरने को राजी नहीं हैं। सत्ता बदलने के बाद ताजा मामला कस्बे के बस स्टैंड पर नगर पंचायत व पुरूषोत्तम सोनी के बीच चल रहे हाईप्रोफाइल विवाद का है। जानकारी के अनुसार कस्बे बस स्टैंड पर स्थित गाटा संख्या 1456 में कस्बे सर्राफा व्यापारी पुरूषोत्तम सोनी ने एक प्लाट अपने नाम व दो प्लाट अपनी पत्नी मीना सोनी के नाम खरीदे हैं। जिस समय प्लाटों की बिक्री हुई उस समय प्लाट और बेलराया पनवारी रोड के बीच की जमीन पर करीब आधा दर्जन दुकानदारों का अतिक्रमण था। अप्रैल 2015 में तत्कालीन एसडीएम पी के सिंह ने अतिक्रमण हटवाकर जगह खाली करवा दी। अतिक्रमण हटाने के दौरान पूर्व विधायक रामचरन शाह का बनवाया यात्री प्रतीक्षालय भी तुड़वा डाला था।
अतिक्रमण हटने के बाद नगर पंचायत द्वारा खाली जमीन पर इंटर लाॅक लगवा दी गई। इसके बाद पुरूषोत्तम सोनी की पत्नी मीना सोनी की से ओर नगर पंचायत में एक प्लाट में निर्माण के लिए नक्सा स्वीकृति के लिए दिया गया। जिसे काफी समय बाद इस शर्त के साथ स्वीकृति मिली कि वह पूरब की दरवाजा नहीं लगा सकती हैं। नक्सा पास होने के बाद पुरूषोत्तम सोनी ने तिरपाल व तत्कालीन सपा सरकार के  एक दर्जन झंडे लगाकर निर्माण कार्य जब शुरू किया तो चेयरपर्सन प्रतिनिधि मो कयूम के कई सभासदों ने जाकर काम रूकवा दिया। इसको लेकर थाने में भी कई बार मामला पहुंचा। इसके बाद नगर पंचायत ने वहां पर यात्री प्रतीक्षालय बनाने का प्रस्ताव कर दिया। इसके बाद पुरूषोत्तम सोनी ने अपनी पत्नी मीना सोनी की ओर से न्यायालय में वाद दायर करवा  दिया है। अब जब जैसे ही प्रदेश की सत्ता बदली पुरूषोत्तम  सोनी की ओर से जैसे ही निर्माण कार्य चालू किया गया वैसे ही नगर पंचायत ने यात्री प्रतीक्षालय बनाने के लिए ईंट व गिट्टी मौरंग विवादित स्थल पर उतार दी गई। जिसके बाद सोनी ने फिर काम बंद कर दिया गया है।
इस मामले को लेकर जब ईओ आर के भार्गव से वार्ता नहीं हो सकी तो चेयरपर्सन प्रतिनिधि मो. कय्यूम से पूछा गया तो उन्होंने बताया पुरूषोत्तम सोनी द्वारा कराया जा रहा निर्माण पूरी तरह से मानचित्र के विरूद्ध है जो कि सरासर गलत है। इसके साथ ही जनहित में बनवाए जा रहे यात्री प्रतीक्षालय में उनके द्वारा जो रोड़ा अटकाया जा रहा है वह दुर्भाग्यपूर्ण है। वहीं इस मामले जब पुरूषोत्तम सोनी से बात की गई तो उन्होंने बताया नगर पंचायत उनके द्वारा खरीदे गए प्लाट के हिस्से पर जबरन निर्माण कराने का प्रयास कर रही है। जिसको रोकने के लिए उनकी ओर से एक वाद न्यायालय में दायर कराया है जिसका फैसला भी जल्द आने वाला है। वहीं कस्बे के कुछ लोगों का कहना है नगर पंचायत के पदाधिकारियों व पुरूषोत्तम सोनी के बीच केवल एक हाई प्रोफाइल ड्रामा बताया है।
 -मसरूर खान