25 मई को खुलेंगे हेमकुंड साहिब के कपाट, श्रद्धालु कर सकेंगे दर्शन

देहरादून। उत्तराखंड के पांचवें धाम हेमकुंड साहिब के कपाट 25 मई को खुलने वाले हैं। हालांकि अब तक मंदिर के कपाट खुलने पर अब तक संशय बरकरा है क्योंकि सारे रास्ते अब तक बर्फ से ढके हुए हैं। यात्रा तैयारियों के कारण सेना की इंजीनियरिंग कोर के जवानों ने हेमकुंड साहिब पैदल मार्ग के एक किमी हिस्से की बर्फ हटा कर रास्ते बनाने का काम शुरू कर दिया है।

जवान बना रहे हैं रास्ता

कुछ जवान हेमकुंड साहिब पहुंचकर गुरुद्वारे व पवित्र सरोवर में जमी बर्फ को हटाने का कार्य कर रहे हैं। सेना के एक प्रवक्ता ने बताया कि कपाट खुलने से पहले ही पूरे मार्ग और गुरुद्वारा परिसर से बर्फ हटा ली जाएगी। प्रवक्ता के अनुसार सेना की इंजीनियरिंग कोर के 30 जवान हेमकुंड पैदल मार्ग से बर्फ हटाने के कार्य में लगे हुए हैं।

रिपोर्ट के मुताबिक अब तक एक किमी तक बर्फ हटाई जा चुकी है। सेना के जवानों के साथ गुरुद्वारा प्रबंधन कमेटी के सेवादार गुरुद्वारे की सफाई के काम में जुटे हुए हैं।

कमेटी के प्रबंधक सरदार सेवा सिंह का कहना है कि लोनिवि द्वारा हेमकुंड साहिब पैदल मार्ग पर घांघरिया से नीचे मरम्मत का कार्य भी युद्धस्तर पर किया जा रहा है। 25 कई कपाट खुलने से पहले प्रशासन की ओर से सभी तैयारियां कर ली जाएंगी।