एसबीसी आरक्षण विधेयक खारिज होने पर गुर्जर, पाटीदार समुदाय के साथ करेंगे आंदोलन

जयपुर। राजस्थान हाईकोर्ट के गुर्जरों को एसबीसी आरक्षण विधेयक के खारिज करने के बाद गुर्जर एक बार फिर उग्र आंदोलन करने की तैयारियां कर रहे हैं। कयास लगाए जा रहे हैं कि इस बार के आंदोलन में राजस्थान के गुर्जरों के साथ पाटीदार भी आंदोलन का हिस्सा बन सकते हैं। गुर्जरों के आंदोलन से गुजरात के पाटीदारों से जोड़ने के लिए शनिवार को हार्दिक पटेल शनिवार को दौसा पहुंचे।

दौसा पहुंचते ही हार्दिक ने अपना आक्रमक रुप दिखाते हुए एसबीसी आरक्षण मामले में टिप्पणी करते हुए केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि मोदी सरकार गुर्जरों की आंखों में धूल झोंक रही है।

hardik-patel

गुर्जर और पाटीदार एक साथ करेंगे आंदोलन

गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति के प्रवक्ता हिम्मत सिंह से मुलाकात करने के बाद हार्दिक ने मीडिया से कहा कि पाटीदार और गुर्जर मिलकर एक योजना बना रहें है जिसके बाद दोनों नए सिरे से आंदोलन कर आरक्षण की मांग करेंगे।

सरकार के साथ 5 सदस्यों की टीम करेगी बैठक

एससीबी आरक्षण संघर्ष समिति के मुखिया कर्नल किरोड़ी सिंह बैसला का कहना है कि वह न्यायलय के आदेश का सम्मान करते है लेकिन उनका आक्रोश राज्य सरकार के खिलाफ है क्योंकि गुर्जर समुदाय का समझौता राज्य सरकार से हुआ था। उन्होने यह भी बताया कि 11 दिसंबर को 5 सदस्यों की टीम राज्य सरकार से बातचीत करने के लिए जयपुर जाएगी। टीम द्वारा बातचीत करने के बाद ही आंदोलन का निर्णय लिया जाएगा।