भगवान राम के तीर इसरो के मिसाइल जैसे थे और वो इंजीनियर: गुजरात सीएम

नई दिल्ली। गुजरात के सीएम विजय रूपानी ने भगवान राम को इंजीनियर बताते हुए उनके तीरों की तुलना इसरो के मिसाइल से की है। सीएम ने श्री राम को बुनयादी सुविधाओं के निर्माण और सामाजिक इंजीनियरिंग के लिए भी श्रय दिया। मुख्यमंत्री ने इंस्टीट्यूट ऑफ इंफ्रास्ट्रक्चर टेक्नोलॉजी रिसर्च एंड मैनेजमेंट (IITRAM) के दीक्षांत समारोह में इंजीनियरिंग छात्रों को संबोधित करते हुए कहा कि भगवान राम का हर एक तीर इसरो के मिसाइल की तरह था। इसरो जो काम आज कर रहा है वो काम भगवान राम ने लोगों को आजाद कराने के लिए इस्तेमाल किया था।

gujarat, chief minister, vijay rupani, lord, ram, isro, iitram
gujarat chief minister vijay rupani

बता दें कि सीएम रूपानी ने कहा कि अगर भगवान राम को वैज्ञानिक दौर से जोड़ा जाए तो सोचो वो किस तरह के इंजीनियर रहे होंगे। जिन्होंने भारत और श्रीलंका को जोड़ने के लिए पुल का निर्णाण किया था। लोग कहते हैं कि आज भी समुंद्र में आज भी राम सेतु के अवशेष मौजूद है। विजय रूपानी का कहना है कि राम ने सामाजिक इंजीनियरिंग में भी काम किया है। उन्होंने सभी जातियों को एक साथ लाने का काम किया। उन्होंने कहा कि श्री राम ने शबरी के बेर भी खाए जिसे देखकर लगता है कि उन्होंने ऐसा आदीवासियों का विश्वास जीतने के लिए किया। वहीं रूपानी ने कहा कि महात्मा गांधी ने भी इस राम राज्य के बारे में कहा था और पीएम मोदी इसके लिए काम कर रहे हैं।