117 सालों का रिकार्ड तोड़ गुजरात के बल्लेबाज ने रचा इतिहास

जयपुर। गुजरात के 26 साल के सलामी बल्लेबाज समित गोहेल ने ओड़िशा के खिलाफ रणजी ट्राफी क्वार्टर फाइनल में आज यहां पारी में नाबाद रहते हुए 359 रन बनाए और प्रथम श्रेणी क्रिकेट में पूरी पारी में अजेय रहते हुए सर्वाधिक स्कोर का 117 साल पुराना रिकार्ड तोड़ा। हनीफ मोहम्मद के 499 रन पारी की शुरूआत करते हुए प्रथम श्रेणी क्रिकेट में किसी भी बल्लेबाज का सर्वाधिक स्कोर है लेकिन पारी की शुरूआत करके नाबाद रहते हुए गोहेल से अधिक रन किसी ने नहीं बनाए हैं। गुजरात ने 641 रन बनाए। गोहेल ने समरसेट के खिलाफ सरे के बाबी एबेल का 357 रन का रिकार्ड तोड़ा जो उन्होंने 1899 में केनसिंगटन ओवल मैदान में बनाया था।

sumit-gohel

गोहेल ने 723 गेंद की अपनी पारी के दौरान 45 चौके और एक छक्का मारा। गुजरात के आणंद के रहने वाले गोहेल ने पारी के बाद कहा, मुझे नहीं पता था कि यह विश्व रिकार्ड है। मैं सिर्फ अधिक से अधिक समय तक खेलना चाहता था। कोच सर (विजय पटेल) और पार्थिव भाई (कप्तान पार्थिव पटेल) ने बोला था लंबा खेलो। मैं सिर्फ यही करने का प्रयास किया। मुझे खुशी है कि मैं इतने लंबे समय तक बल्लेबाजी कर पाया। बेशक यह मेरे जीवन का सबसे बेहतरीन दिन है।

गोहेल के पिता भानुभाई पटेल का प्रापर्टी का व्यवसाय है और अब तक वह खुद को पेशेवर क्रिकेटर कहकर खुश हूं। अपने माता-पिता और पत्नी के साथ रहने वाले गोहेल ने कहा, मेरे पिता का प्रापर्टी का छोटा सा व्यवसाय है। काफी बड़ा नहीं। अब तक मैंने सिर्फ क्रिकेट पर ध्यान दिया है लेकिन हां, मैं सरकारी नौकरी ढूंढ रहा हूं। मैंने खेल कोटा से आयकर विभाग और देना बैंक में आवेदन किया है। देखते हैं क्या होता है।

उन्होंने कहा, असल में, अब तक मैंने अपने परिवार को फोन करके विश्व रिकार्ड के बारे में नहीं बताया है। गोहेल के साथी प्रियांक पांचाल इस सत्र में रणजी ट्राफी में शीर्ष स्कोर हैं और गोहेल ने कहा कि उनके लिए यह साथी बल्लेबाजी प्रेरणा है। गुजरात के रणजी ट्राफी कोच विजय पटेल को भी गोहेल की उपलब्धि पर गर्व है।