मीडिल क्लास रसोई को लगा जीएमटी का ग्रहण, एलपीजी की गैसों में 32 रूपए का इजाफा

नई दिल्ली। देश में जीएसटी लागू होने से कई लोगों को इसका फायदा हुआ तो कई लोगों को नुकसान जीएसटी से कई उपभोक्ता उत्पादों की कीमतों में कमी दर्ज की गई है तो कई चीजों के दामों में दामों में इजाफा ही हुआ है। जीएसटी से गैस सब्सिडी में कटौती का असर सीधे देश में आम लोगों की रसोई पर देखने को मिलेगा। आलम यहां है कि देश में जीएसटी के लागू होने के बाद रसोर्इ गैस सिलिंडरों की कीमत में करीब 32 रुपये प्रति सिलिंडर का इजाफा होने की आशंका जाहिर की जा रही है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक जीएसटी के लागू होने से पहले कई राज्यों को एलपीजी के लिए कोई टैक्स नहीं देना पड़ता था। लोकिन टैक्स के बदले कुछ राज्यों में इस पर 2 से 4 फीसदी का वैट जरूर लगता था। जीएसटी में LPG को 5 फीसदी के स्लैब में रखा गया है। इस वजह से इसकी कीमत में 12-15 रुपये की बढ़ोतरी हो रही है।


बता दें कि इसके अलावा जून से ही गैस में कटौती की जाएगी। उदाहरण के तौर पर अगर जून तक किसी के पास 119 रुपये तक की सब्सिडी आती थी, तो अब उसे मात्र 107 रुपये ही सब्सिडी के रूप में मिलेंगे। इसका मतलब जीएसटी और सब्सिडी के कारण आम आदमी की जेब पर सीधे तौर पर 30-32 रुपये का असर पड़ रहा है।

हालांकि, जीएसटी के आने से कमर्शियल एलपीजी सिलेंडर में 69 रुपये तक की कटौती हुई है। इससे पहले कमर्शियल सिलेंडर पर 22.5% तक का टैक्स लगता था, लेकिन अब इसे 18 फीसदी स्लैब में रखा गया है, जिसके कारण दाम घटे हैं।