मैत्रेय परियोजना का मंत्री ने किया भूमिपूजन

कुशीनगर। कुशीनगर में प्रस्तावित मैत्रेय परियोजना का भूमिपूजन आज कैबिनेट मंत्री ब्रम्हाशंकर त्रिपाठी ने किया। भूमिपूजन हिन्दू और बौद्ध रीती-रिवाज से किया गया। मैत्रेय परियोजना के तहत भगवान बुद्ध की 200 फिट उची प्रतिमा स्थापित की जायेगी जिसमे विश्व स्तरीय विश्वविद्यालय और चिकित्सालय का निर्माण किया जायेगा। साथ ही मेडिटेशन सेंटर , पार्क और लाइब्रेरी भी बनाया जाना है।

kushinagar

परियोजना के लिए किसानों से 201 एकड़ जमीन अधिगृहित की गयी है। हांलाकि मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने 13 दिसंबर 2013 को ईंट रख कर और बटन दबाकर मैत्रेय परियोजना जा शिलान्यास किया था । शिलान्यास कार्यक्रम में करोड़ों रूपया खर्च करने के बाद भी आजतक परियोजना पर कोई कार्य शुरू नहीं हो पाया है |

चुनाव के नजदीक आते ही राजनैतिक पार्टियों को क्षेत्र में अधूरे विकास कार्यों की याद आ जाती है और आनन्-फानन में शिलान्यास और उदघाटन करने का क्रम तेज हो जाता है … 2013 में जिस मैत्रेय परियोजना का शिलान्यास मुख्यमंत्री अखिलेश यादव खुद कर चुके थें। आज पुनः उसी मैत्रे परियोजना का भूमिपूजन कैबिनेट मंत्री ब्रम्हाशंकर त्रिपाठी ने किया।

परियोजना में आयी कुछ अड़चनों का हवाला देकर मंत्री जी ने समय से कार्य शुरू न होने पर खेद जताते हुवे आज से कार्य शुरू होने का दावा किया। मैत्रेय परियोजना के ट्रस्टी भंते कबीर ने कहा कि अब इस परियोजना कोई संसय नहीं है क्योकि इसके पीछे प्रेम है। जल्द ही बाउंड्री का कार्य स्टार्ट हो जायेगा और बोध गया से 22 फिट ऊँची भगवान बुद्ध की प्रतिमा स्थापित की जायेगी … परियोजना के प्रथम चरण में अस्पताल और मोबाइल क्लिनिक शुरू कर दिया जायेगा। इस परियोजना के शुरू हो जाने से इस पुरे क्षेत्र का विकास होगा , स्थानीय लोगों को रोजगार मिलेगा , आध्यात्मिक विकास होगा , कृषि को बढ़ावा मिलेगा , कुटीर उद्योग धन्धे बढ़ेंगे |

rp_k-d-yadaw_kushinagarके डी यादव, कुशीनगर