गणतंत्र दिवस पर राज्यपाल ने ली परेड की सलामी, फहराया तिरंगा

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में आज 68वें गणतंत्र दिवस की धूम है। पूरा राज्य जश्न में डूबा हुआ है। जगह-जगह राष्ट्र-ध्वज फहराया जा रहा है। राज्यपाल राम नाईक ने विधानसभा भवन के सामने तिरंगा फहराया और परेड की सलामी ली। इस मौके पर राज्यपाल ने प्रदेशवासियों को गणतंत्र दिवस की बधाई दी। उन्होंने समस्त प्रदेशवासियों को सुख, समृद्धि और शांति के लिए अपनी शुभकामनाएं भी दी। राज्यपाल ने लोगों से चुनाव में बढ़ चढ़कर मतदान की अपील भी की। कहा कि जनतंत्र का सही मतलब मताधिकार का प्रयोग होता है।

शहीदों को अपनी श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए राज्यपाल ने कहा कि उनके त्याग और बलिदान के कारण ही हमारा देश आज एक सशक्त जनतंत्र के रूप में पूरे विश्व में प्रतिष्ठित है। उन्होंने कहा कि हम सबको देश की एकता और राष्ट्रीय एकीकरण की भावनाओं को अमली जामा पहनाने के प्रति अपने को समर्पित करते हुए एक मजबूत एवं समृद्ध भारतीय गणतंत्र राष्ट्र के निर्माण के लिए प्रयास करने की आवश्यकता है, जिससे महान भारतीय नेताओं के सपनों को साकार किया जा सके। आज राज्यपाल का जनता के नाम सन्देश का प्रसारण दूरदर्शन केन्द्र, लखनऊ से सुबह 8.30 बजे हुआ। यह संदेश रात्रि आठ बजे आकाशवाणी के लखनऊ केंद्र से भी प्रसारित किया जायेगा।
मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भी गणतंत्र दिवस पर प्रदेशवासियों को हार्दिक बधाई दी है। उन्होंने कहा है कि गणतंत्र दिवस देश की आजादी के लिए अपने प्राणों की आहुति देने वाले उन सभी ज्ञात-अज्ञात शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित करने तथा उन्हें याद करने का अवसर प्रदान करता है, जिनके असीम त्याग और बलिदान से आज हम स्वतंत्र देश के नागरिक हैं। उन्होंने आजादी की लड़ाई मेें अप्रतिम योगदान देने वाले स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों को भी नमन किया है।

गणतंत्र दिवस पर राजधानी लखनऊ में विधानसभा के सामने परेड का आयोजन हो रहा है। राज्यपाल राम नाईक ने परेड की सलामी ली। परेड के दौरान हेलीकाप्टर से फूलों की वर्षा हुई। परेड में दर्जनों झांकियां शामिल हैं। परेड में स्कूली बच्चे रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत कर रहे हैं। राजधानी के अलावा इलाहाबाद, वाराणसी, कानपुर, मेरठ, गोरखपुर समेत राज्य के सभी जिलों में भी गणतंत्र दिवस का धूमधाम से आयोजन किया जा रहा है। पुलिस लाइन्स, स्कूलों, कालेजों एवं अन्य संस्थानों और चौराहों पर धूमधाम से झंडारोहण किया गया। जगह-जगह स्कूली बच्चों द्वारा देशभक्ति के कार्यक्रम प्रस्तुत किये जा रहे हैं।