…तो पर्रिकर ने इसलिए छोड़ी रक्षा मंत्री की कुर्सी

पणजी। घाटी में दिनों-दिन बढ़ते विवाद के बाद एक के बाद एक सेना पर पत्थरबाजी के नए-नए वीडियो सामने आ रहे हैं। इसी बीच पूर्व रक्षा मंत्री और गोवा के सीएम मनोहर पर्रिकर ने घाटी के बारे में एक बड़ा बयान दिया है। पर्रिकर का कहना है कि कश्मीर की समस्या का हल करना इतना आसान नहीं है। अम्बेडकर जयंती के मौके पर एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पर्रिकर ने कहा कि कश्मीर की समस्या को एक दीर्घकालिक नीति अपनाकर ही सुलझाया जा सकता है।

रक्षा मंत्री रहने तक था दवाब

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पर्रिकर ने कहा कि जब तक वो केंद्रीय रक्षा मंत्री थे उन पर दवाब था लेकिन गोवा का सीएम बनने के बाद वो दवाब नहीं है। पर्रिकर ने ये भी कहा कि उनकी जगह देश की राजधानी दिल्ली नहीं बल्कि गोवा में हैं जहां पर रहना उनकी आदत बन चुका है।

आगे बोलते हुए उन्होंने कहा, “मेरा मानना है कि कुछ चीजों में चर्चा कम से कम होनी चाहिए और इन्हें किया जाना चाहिए। चर्चा से इसमें गड़बड़ी आ सकती है।” कश्मीर मुद्दे को हल करने के बारे में कुछ सवाल पूछे जाने पर उन्होंने मीडिया के बारे में कहा, “क्या आप चाहते हैं कि यह चीज घटित हो या आप इस चीज को खबर बनाना चाहते हैं?”उन्होंने कहा कि चर्चा से बहुत से विचार सामने आते हैं, जो फैसला लेने में दिक्कत करते हैं।