लड़की का अपहरण करके 2 लाख रुपये में हैदराबाद किया सौदा

बलरामपुर। जनपद में एक नाबालिग लड़की का अपहरण कर उसके साथ दुष्कर्म करने का मामला फिर सामना आया है। यही नहीं अपहर्ताओं द्वारा लड़की को हैदराबाद में बेचे जाने की तैयारी भी की जा रही थी। लेकिन इसकी भनक लगते ही लड़की वहां से भागने में सफल रही। मामला सादुल्लानगर थाना क्षेत्र के अतरौरा गांव का है। 17 सितम्बर को घर से बाहर शौच के लिए गई नाबालिग लडकी को गांव के ही 2 लड़कों ने नशीला पदार्थ सुंघाकर बेहोश कर दिया और उसे उठाकर ले गए। दूसरे दिन जब लडकी को होश आया तो उसने खुद को लखनऊ रेलवे स्टेशन पर पाया। गांव के ही दोनों युवक उसके साथ ही थे। दोनों ही युवक उसे हैदराबाद ले जाने की फिराक में थे और किसी व्यक्ति से 2 लाख रुपये में इसका सौदा भी कर लिया था।

girl, kidnapping,hyderabad, deal,rs 2 lakh,crime,police, grp,
Girl kidnapping

उन दोनों युवको की बाते सुनकर नाबालिग ने लखनऊ रेलवे स्टेशन के जीआरपी को देखकर चिल्लाने लगी। लड़की का शोर सुन पुलिस उसे अपेन साथ ले गई जबकि दोनों युवक मौका देख वहां से फारार हो गए। 2 दिनों तक नाबालिग को नारी निकेतन में रखा गया और उसके मां-बाप को खबर दी गई। नाबालिग लड़की के मां-बाप लखनऊ से अपनी बेटी को लेकर सादुल्लानगर आए और थाने में 2 युवकों के खिलाफ तहरीर दी। थाने की पुलिस ने लड़की के बाप को वहां से भगा दिया। बाद में लड़की के मां-बाप उसे लेकर एसपी के यहां पहुंचे। एसपी के निर्देश पर दोनों युवकों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया। पुलिस मामले की छानबीन में जुट गई। सवाल यह उठता है कि पुलिस छानबीन में तो जुट जाती है, लेकिन आला अधिकारीयों के आदेशों के बाद। जब पीड़ित पुलिस स्टेशन में जाते है, तो उस वक्त पुलिस मुकदमा दर्ज करके जांच में क्यों नहीं जुटती।