जनाक्रोश रैली में मोदी सरकार पर गुलाम नबी आजाद ने बोला हमला

मेरठ। नोट बंदी के विरोध में कांग्रेस कमेटी द्वारा रविवार को मेरठ के जीमखाना मैदान में जनाक्रोश रैली का आयोजन किया। जिसमें मुख्य रूप से जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री गुलाम नवी आजाद ने भाग लिया। उनके साथ पार्टी के युवा नेता इमरान मसूद व पूर्व सांसद मीम अफजल भी मौजूद रहे।

कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रभारी गुलाम नबी आजाद ने सपा के संग्राम में कहा कि हम चाहेंगे कि पार्टी न टूटे। उन्होने इस बात से इंकार नही किया की यूपी चुनाव में कांग्रेस-सपा का गठबंधन हो सकता है। हालांकि आजाद ने यह भी कहा कि कांग्रेस सपा के अभी गठबंधन पर कोई फैसला नहीं है। उन्होने राहुल अखिलेश की मुलाकात को पुरानी बात कहा।

इस दौरान नोट बंदी पर उन्होने केन्द्र की भाजपा सरकार को घेरते हुए कहा कि पीएम मोदी के इस फैसले से जनता परेशान हुई है। उन्होने कहा की आगामी चुनाव में यूपी में कांग्रेस के सहयोग के बिना कोई सरकार नही बनेगी। कांग्रेस के युवा नेता इमरान मसूद ने नोट बंदी पर केन्द्र सरकार को घेरते हुए कहा कि मोदी जी ने काले धन पर रोक लगाने के लिये नोटबंदी की बात कही थी। किंतु इस नोटबंदी से भाजपाईयों ने अपने काले धन को सफेद कर लिया। जबकी जनता अपने धन के लिये लाईनों में लगी है तथा बैंकों के चक्कर लगा रही है।

इस अवसर पर जिलाध्यक्ष विनय प्रधान, सतीश शर्मा, शहर अध्यक्ष किशन कुमार किशनी, मारूफ अली, हरेन्द्र अग्रवाल, मंजीत कोछड, चैधरी यशपाल सिंह, राजबाला गौतम, आदित्य शर्मा, राजीव शर्मा आदि थे।

राहुल गुप्ता, संवाददाता