जायरा वसीम के समर्थन में आये गंभीर और गीता फोगाट

नई दिल्ली। महिला पहलवान गीता फोगाट के बाद भारतीय क्रिकेटर गौतम गंभीर अभिनेता आमिर खान की फिल्म ‘दंगल’ में अपने अभिनय से लोगों का दिल जीतने वाली जम्मू-कश्मीर निवासी अभिनेत्री जायरा वसीम के समर्थन में आ गये हैं। बता दें कि जायरा ने एक खुले पत्र में राज्य की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती से मुलाकात करने के बाद सोमवार को लोगों (कश्मीरियों) से ‘अनजाने में उनकी भावनाओं को चोट पहुंचाने’ को लेकर सोशल मीडिया पर माफी मांगी थी। लेकिन अब सोशल मीडिया से जायरा ने अपना ‘माफीनामा’ हटा लिया है।

 

गंभीर ने ट्वीट कर कहा, ‘दंगल में ज़ायरा के अभिनय को गैर-इस्लामिक बताना और मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती से मुलाकात पर बवाल मचाने वालों का ये नंगापन है।’ गंभीर इतने पर ही नहीं रूके| उन्होंने एक और ट्वीट कर कहा कि ज़ायर के मामले में मुझे लिंग के आधार पर भेदभाव की बू आ रही है| क्या कोई ऐसी ही बात आमिर, शाहरूख या सलमान खान के लिए कहने की हिम्मत कर सकता है?’ गंभीर ने इसके बाद एक और ट्वीट कर कहा कि ‘पुरूष-पुरूष ही होते हैं| ज़ायरा जैसी लड़की को आगे बढ़ते हुए देख कुछ लोग असुरक्षित महसूस कर रहे हैं| दुख के साथ मुझे लगता है कि ‘म्हारी छोरियां आज भी छोरों से कम हैं।’ गंभीर के अलावा इस पूरे मामले पर गीता फोगाट ने भी अपनी बात रखी थी। उन्होंने कहा था कि ‘धाकड़ लड़कियों का रोल किया है उसने तो उसको डरने और शर्मिंदा होने की कोई जरूरत नहीं है।

 

जानें क्या है पूरा मामला

जायरा वसीम ने सोमवार को जम्मू कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती से मुलाकात की थी। इस मुलाकात के बाद जायरा अलगाववादियों के ऐसे निशाने पर आ गई कि उन्हें खुला खत जारी कर माफी मांगनी पड़ी। जायरा को ये माफीनामा सोशल मीडिया पर लगातार मिल रही धमकियों की वजह जारी करना पड़ा। जिसका सिलसिला उनके महबूबा मुफ्ती से मिलने की वजह से शुरू हुआ। सोशल मीडिया पर जायरा ही नहीं बल्कि उनके परिवार को भी काफी बुरा भला कहा गया। जायरा का माफीनामा सामने आने के बाद सियासी दुनिया में दंगल शुरू हो गया। कश्मीर में भाजपा ने अलगाववादियों पर हमला बोला तो नेशनल कान्फ्रेंस भी इस विवाद में कूद पड़ी।