क्रिकेट खिलाड़ियों के जीवन पर फिल्म के पक्ष में नहीं है गंभीर

नई दिल्ली। मैदान से बाहर अपनी स्पष्टवादिता के लिए मशहूर और राष्ट्रीय टीम से बाहर चल रहे अनुभवी बल्लेबाज गौतम गंभीर का मानना है क्रिकेट खिलाड़ियों के जीवन पर फिल्में नहीं बननी चाहिए। गंभीर का यह बयान विवाद खड़ा कर सकता है, हालांकि उनका कहना है कि उनके जीवन पर फिल्में बननी चाहिए जिन्होंने देश के कल्याण के लिए कुछ योगदान दिया हो।

गौरतलब है कि भारतीय क्रिकेट टीम के सबसे सफल कप्तानों में शुमार महेंद्र सिंह धौनी के जीवन पर बनी फिल्म जल्द ही रिलीज होने वाली है और धौनी की फिल्म रिलीज होने से ठीक पहले गंभीर का यह बयान विवाद खड़े कर सकता है। धोनी पर बनी फिल्म ‘एमएस धौनी : द अनटोल्ड स्टोरी’ में हिंदी फिल्मों के युवा प्रतिभाशाली अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत ने धौनी का किरदार निभाया है। यह फिल्म 30 सितंबर को रिलीज हो रही है।gambhir-is-not-in-favor-of-the-film-based-on-cricketers-life

गंभीर ने रविवार को ट्वीट किया, मैं क्रिकेट खिलाड़ियों के जीवन पर फिल्म के पक्ष में नहीं हूं। मेरे खयाल से देश के कल्याण के लिए जिन लोगों ने योगदान दिए हैं उनके जीवन पर फिल्में बननी चाहिए। देश में ऐसे अनेक लोग हैं जिन्होंने देश के लिए अच्छे काम किए। इसलिए उनके जीवन पर फिल्में बननी चाहिए।

गंभीर की यह टिप्पणी धोनी की आगामी फिल्म को निशाना बनाकर की गई मानी जा रही है, जो दोनों खिलाड़ियों के बीच की खटास को उजागर करती है। उल्लेखनीय है कि दलीप ट्रॉफी सहित घरेलू क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन करने के बावजूद गंभीर को न्यूजीलैंड के खिलाफ आगामी श्रृंखला के लिए भी टीम में वापस नहीं बुलाया गया।