रोडवेज बसों की चेकिंग के दौरान लाखों की नकदी के साथ चार तस्कर गिरफ्तार

शाहजहांपुर। यूपी के शाहजहांपुर पुलिस को उस वक्त एक बङी कामयाबी हाथ लगी जब पुलिस गाड़ियों की चेकिंग कर रही थी। पुलिस को मुखबिर से मिली सूचना के बाद हरकत मे आई पुलिस अचानक रोडवेज बसों की चेकिंग शुरू की और एक बस से उतरते वक्त चार स्मैक तस्करो को गिरफ्तार कर लिया। स्मैक तस्करो के पास से 68 लाख 47 हजार रूपये की नगदी बरामद की साथ ही इनके पास से दो किलो स्मैक भी बरामद की। पुलिस की माने तो स्मैक की अंतरराष्ट्रीय बाजार मे ढाई करोड़ की कीमत बताई जा रही है। खास बात ये है कि चारों तस्कर किसी लग्जरी कार तस्करी न करने के बजाए रोडवेज बसों से तस्करी करते थे ताकि किसी को कोई शक न हो सके। फिलहाल पकड़े गए तस्करो से पुलिस कङी पूछताछ मे जुटी है।

दरअसल एसपी केबी सिंह के आदेश पर पूरे जिले मे चलाए जा रहे चेकिंग अभियान का असर अब साफ दिखाई दे रहा है। जहां आज थाना रामचंद्र मिशन प्रभारी निरीक्षक हरीश राजपूत अपनी टीम के साथ पक्के पुलिस के पास वाहनों की चेकिंग कर रहे थे। इस दौरान पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि रोडवेज बस से चार युवक भारी मात्रा मे स्मैक और बङी तादात मे नगदी लेकर जा रहे हैं। एसपी केबी सिंह ने बचाया कि मुखबिर से सूचना मिलते ही रोडवेज बस और पक्के पुल के पास रोडवेज बसों के भी चेकिंग शुरू कर दी गई। इस दौरान एक रोडवेज बस रूकी और उसमे से चार युवक उतरन लगे। पुलिस को देखकर जगह वह युवक भागने की कोशिश की करने लगे तो पुलिस ने चारो युवकों को गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार युवको के पास 68 लाख 47 हजार रूपए की नगदी बरामद की और साथ ही चारो युवको के पास से दो किलो स्मैक भी बरामद हुई। अंतरराष्ट्रीय बाजार मे बरामद हुए स्मैक की कीमत ढाई करोड़ रूपए बताई गई है। गिरफ्तार चारो युवकों मे दो बाराबंकी एक मेरठ और एक दिल्ली में रहने वाले है। जिनमे मुजाहिद पुत्र सलीम निवासी जनपथ हापुड़, शादाब पुत्र एतशाम निवासी नई दिल्ली,(मूल निवासी मेरठ)  तौफीक पुत्र तसव्वुर अली निवासी बाराबंकी, दीपू गोस्वामी पुत्र कौशल निवासी बाराबंकी के रहने वाले है।

एसपी केबी सिंह की माने तो पूछताछ मे तस्करों ने बताया कि सभी लोग बाराबंकी के सतरिख क्षेत्र से स्मैक लेकर आ रहे थे। उनके पास स्मैक मे से कुछ स्मैक लखनऊ में बेच दी थी। लखनऊ मे बची स्मैक के पैसे 68 लाख 47 हजार रुपये उनके पास रखे थे। जो बाकि बची हुई स्मैक वह दिल्ली मे बेचने ले जा रहे थे। पूछताछ मे स्मैक तस्करो ने बताया का सभी लोग रोडवेज बसों से ही स्मैक की खपत करते थे। जिसके बाद वह हर एक स्टाप पल उतर जाते है और दूसरी बस पकड़ लेते थे। जिसके बाद आज पुलिस ने उनको गिरफ्तार कर लिया। फिलहाल पुलिस चारो स्मैक तस्करो से पूछताछ मे जुटी हुई है।

एसपी के माने तो गिरफ्तार स्मैक तस्करो के तार किसी बङे गैंग से जुड़े हो सकते है। चारो लोगो से पूछताछ की जा रही है कि कुछ स्मैक जो लखनऊ मे बेची है उसके बारे मे भी पूछताछ की जा रही है। इस आलावा दिल्ली मे वो कौन लोग है जिनको ये स्मैक सप्लाई करने जा रहे थे। फिलहाल गिरफ्तार युवको से कङाई से पूछताछ की जा रही है।

 -अभिषेक सिंह