ग्रीनपार्क स्टेडियम में इंग्लैंड से लगान वसूलने के लिए खेलेगी टीम इंडिया

कानपुर। भारत में गणतंत्र दिवस के मौके पर खेला जाने वाला टी-20 मैच इस बार कानपुर के ग्रीन पार्क स्टेडियम में दूधिया रोशनी में खेला जाएगा। इंडिया और इंग्लैंड के बीच खेला जाने वाला ये मैच इस बार इतिहास के पन्नों पर दर्ज होने वाला है। ये मैच इस लिहाज से भी खास है कि इस बार टीम इंडिया यहां पर इंग्लैंड से लगान वसूलने के लिए मैदान में उतरेगी। स्टेडियम में पहली बार फ्लड लाइट के बीच डे-नाइट टी-20 अन्तरर्राष्ट्रीय मैच की तैयारियां इन दिनों जोरों पर है। स्टेडियम की रंगाई-पुताई का काम युद्ध स्तर पर चल रहा है। मैच में सूबे के सीएम और राज्यपाल के आने के चलते सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंद की जा रही है। इसके लिए जिला व पुलिस प्रशासन रणनीति बना रहा है। एसीएम डीडी वर्मा मैच के प्रभारी बनाए गए हैं। वर्मा ने बताया कि एक सप्ताह के अंदर सारी तैयारियां पूरी कर ली जाएंगी। दोनों टीमें 24 जनवरी को सुबह चकेरी एयरपोर्ट पर उतरेंगी।

ग्रीनपार्क स्टेडियम में टेस्ट और एक दिवसीय क्रिकेट मैच कई खेले जा चुके थे, लेकिन दूधिया रोशनी में कोई भी अंतरर्राष्ट्रीय मैच इसके पहले नहीं खेले गए। यूपीसीए के चेयरमैन राजीव शुक्ला के चलते पहली बार यहां पर टी-20 इंटनेशनल मैच होने जा रहा है। मैच को लेकर जहां प्रशासन पूरी तरह से तैयार है, वहीं दर्शक भी काफी उत्सहित हैं।

दर्शक दूधिया रोशनी में मैच का लेंगे मजा

ग्रीपार्क स्टेडियम में पहली बार दूधिया रोशनी में इंटरनेशनल मैच का आयोजन हो रहा है। मैच को लेकर दर्शक भी खासे उत्साहित हैं। आजाद नगर निवासी दिलीप कुमार ने बताया की ग्रीनपार्क में अभी तक जितने भी मैच हुए हैं, हम सभी को देखने के लिए गए हैं। ग्रीनपार्क में टी-20 मैच, वह भी इंग्लैंड के बीच खेला जा रहा है। इसको लेकर हम सभी रोमांचित हैं। यहां पर विराट की अगुवाई में टीम इंडिया अंग्रेजों को पटखनी देकर पूरा लगान वसूलेगी।

राज्यपाल व सीएम भी मैच का उठाएंगे लुफ्त

ग्रीनपार्क के स्टेडियम में 26 जनवरी को यूपी के राज्यपाल और सीएम भी टी-20 मैच का लुफ्त उठाने के लिए आ रहे हैं। जिसको लेकर प्रशासन पूरी तरह से सुरक्षा व्यवस्था को लेकर अभी से रणनीति बना रहा है। डीएम ने टी-20 मैच के लिए डीडी वर्मा को मैच का प्रभारी बनाया है। मैच के लिए फतेहपुर, उन्नाव, हमीरपुर जिलों से फोर्स बुलाई जाएगी। इसके अलावा एसडीएम, सीओ सहित अन्य अधिकारियों को भी बाहर के जिलों से बुलाया जाएगा। हालांकि की अभी तक राज्यपाल व सीएम के आने की आधिकारिक पुष्ठि किसी भी अधिकारी द्वारा नहीं की गई है।

मौसम नहीं ओस बन सकती है बाधा

भारत और इंग्लैण्ड के बीच 26 जनवरी को होने वाले पहले अंतरर्राष्ट्रीय टी-20 मैच में मौसम की चिन्ता भी यूपीसीए को सताने लगी है। संघ को सबसे अधिक चिन्ता मैच के दौरान मैदान ओस की बूंदों से गीला होने की है। उन्होंने कर्मियों को अभी से ही मैदान को सुखाने के लिए की जाने वाली तैयारियों को अमली जामा पहनाना भी शुरू कर दिया। मौसम विभाग ने 26 जनवरी को बारिश के आसार को पूरी तरह से नकार दिया है। वहीं ओस गिरने के कारण मैदान पर नमी को लेकर सभी चिंतित है। मैदान पर नमी होने की दशा में रात्रि कालीन मैच कराए जाने में थोड़ी सी दिक्कत आने की संभावना से इंकार नहीं किया जा रहा है।

बाहर से बुलाए गए विशेषज्ञ

मैदान को सुखाने के लिए यूपीसीए ने शहर के बाहर से विशेषज्ञों को बुलाकर सुपर सॉपर की मरम्मत कराने का काम शुरू कर दिया है। रोजाना उसे मैदान पर चलाकर देखा जा रहा है ताकि उसमें किसी प्रकार की कमी निकले तो वह समय रहते दुरुस्त कराई जा सके। ग्रीनपार्क में सुपर सॉपर के साथ ही अन्य उपकरणों का भी संग्रह किया जा रहा है जिससे मैदान को अधिक समय तक गीला न रहने दिया जाए और मैच के दौरान व्यवधान न पड़ सके। ग्रीनपार्क में तैनात यूपीसीए के नोडल अफसर अनिल कम्थान ने बताया कि संघ ने मौसम के हिसाब से पूरी तैयारी करनी शुरू कर दी है। उन्होंने बताया कि मैदान सुखाने के लिए सुपर सॉपर के साथ ही अन्य उपकरणों को भी पूरी तरह से तैयार कर दिया गया है।