वित्त मंत्री अरुण जेटली चार दिवसीय यात्रा पर राजधानी सियोल पहुंचे

नई दिल्ली। वित्त मंत्री अरुण जेटली कोरिया गणतंत्र की चार दिन की यात्रा के पहले चरण में राजधानी सियोल पहुंचे। जेटली ने पहली बैठक कोरिया के नव नियुक्त उप प्रधानमंत्री और वित्त मंत्री किम डोंग-योन के साथ की। यह भारत और कोरिया के बीच पांचवी वित्त वार्ता थी जिसकी सह अध्यक्षता जेटली ने की।

किम डोंग-योन ने कहा कि भारत के वित्त मंत्री अरुण जेटली उनके कार्यकाल के दौरान कोरिया का दौरा करने वाले पहले विदेशी प्रतिनिधि हैं। किम डोंग-योन ने जोर देते हुए कहा कि कोरिया की नई सरकार भारत के साथ रणनीतिक साझेदारी को बढ़ावा देने के लिए प्रतिबद्ध है। बैठक में भारत और कोरिया के बीच द्विपक्षीय संबंधों के संदर्भ में दोनों ही मंत्रियों ने अंतर्राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था की समीक्षा की।
अनिश्चितता और बढ़ते संरक्षणवाद के खतरे के बीच दोनों नेताओं ने अन्य मुद्दों सहित निवेश को बढ़ाने, आधारभूत ढांचे के विकास को समर्थन देने और द्विपक्षीय व्यापार की तत्काल आवश्यकता पर सहमति जताई। विश्व की सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था के तौर पर भारत ने कोरिया को अपनी पूंजी और तकनीक को भारत में निवेश करने का प्रस्ताव दिया और दक्षिण कोरिया ने अपने आर्थिक साझेदारी में विविधता लाने के लिए भारत को भी प्रस्ताव दिया है।

दोनों ही पक्षों के बीच भारत में आधारभूत परियोजनाओं के समझौतों पर हस्ताक्षर किए गए जिनमें से 09 अरब डॉलर का ऋण रियायती दर पर देने और एक अरब डॉलर विकास परियोजनाओं के लिए है। इससे पहले वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कोरिया के रक्षा मंत्री जनरल हान मिन कू से भी मुलाकात की।