नवरात्र का पर्व यूथ के लिए फिटनेस के साथ भक्ति का संगम है

नई दिल्ली। नवरात्र के पर्व में हेल्थ के साथ परम्परा का निर्वाहन करना युवावर्ग के लिए बहुत ही जरूरी होने के साथ हर वर्ग के लिए आवश्यक है। हमारी जिन्दगी में बढ़ रही भाग-दौड़ के बीच आस्था के ये पर्व कुछ बड़ा लेकर आते हैं। इस पर्वों के बीच हम कुछ नया करने के लिए आगे आते हैं। लेकिन इस दौरान हम अपनी फिटनेस के साथ हेल्थ पर भी खासा ध्यान देते हैं। नवरात्र के पर्व में व्रतों के बीच कभी हल्का तो कभी कभी भोजन हमारे स्वास्थ के लिए हानिकारक हो जाता है। ऐसे नवरात्र का ये पर्व नई पीढ़ी फिटनेस के तौर पर देखती है। नौ दिन व्रत के संतुलित आहार के साथ होने वाले सांस्कृतिक कार्यक्रम आपकी अच्छी खासी फिटनेस से जुड़े होते हैं।

नवरात्र में डांडिया और गरबा को लेकर युवा वर्ग खासा उत्साहित रहता है। युवावर्ग का मानना है कि इसके जरिए इन्जॉय करने के साथ वह अपनी फिटनेस को बरकरार रख पाते हैं। फिटनेस एक्सपर्ट और डांस के ट्रेनर भी इस बात को लेकर कहते हैं कि इस डांस ट्रेंड में म्यूजिक के लिहाज से कभी डांस तेज तो कभी धीमा होता है। इसके साथ ही इसमें पूरी तरह से आपकी बॉडी मूव करती है। इससे शरीर में लचक और बॉडी टोन में रहती है। इसके साथ आपके शरीर में बनने वाली एक्सट्र कैलोरी भी आसान तरीकों से खत्म की जाती है।

इसके साथ ही आप फलाहार को लेकर भी अपनी लाइफ स्टाइल में कुछ तबदीली ला सकते हैं। इस दौरान यूथ का ध्यान अपनी हेल्थ को डाइटफुल रखने के साथ एनर्जी फुल रखने पर होता है। सुबह उठान के साथ यूथ अपनी दिनभर लेने वाली डायट को लेकर काफी सचेत रहता है। क्योंकि इस दौरान अक्सर तला हुआ तैलीय या वसा युक्त भोजन मिल जाता है। इसके लिए वह इसको कम लेते हुए तरल और सहज पदार्थों की ओर आकर्षित होता है। क्योंकि नवरात्र को यूथ फिटनेस के साथ भक्ति से जोड़कर देखते हैं।