छेड़खानी से तंग छात्रा ने की आत्महत्या, घर में मचा कोहराम

महोबा। उत्तर प्रदेश के जनपद महोबा में शोहदों की छेड़खानी से आजिज 17 वर्षीय छात्रा ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। बेटी की मौत के बाद घर में कोहराम मच गया है। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के भेज दिया और परिजनों की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है। पुलिस के मुताबिक, थाना श्रीनगर कसबे के मुहल्ला बजरंग कालोनी निवासी 17 वर्षीय शबनम राजकीय इंटर कॉलेज में कक्षा 11वीं की छात्रा थी। शबनम अपनी पढ़ाई को लेकर गंभीर थी मगर दो शोहदे कस्बा निवासी सुहेल और ग्राम बिलरही निवासी वीर सिंह आए दिन कॉलेज आते और जाते समय उसके साथ छेड़खानी करते थे।

Rape

शबनम ने लड़कों द्वारा छेड़े जाने की बात अपने परिजनों को भी बताई, मगर कमजोर परिवार ने पुलिस से शिकायत तक नहीं की। इससे शोहदों का मनोबल बढ़ा और आए दिन मौका पाकर वह शबनम को परेशान करते। शबनम ने जब कालेज जाना कम कर दिया तो दोनों लड़के उसके घर के चक्कर लगाने लगे। कुछ दिन पूर्व शोहदों ने शबनम के घर में घुसने का प्रयास किया, मगर शोर होने पर वे भाग गए। शबनम के परिजनों की माने तो फोन पर भी ये लड़के परेशान करने लगे थे और पूरे परिवार को जान से मारने की धमकी देते थे। इन सब से परेशान शबनम मानसिक प्रताड़ित थी और गुमसुम सी रहने लगी थी।

जब शबनम का पिता हबीब और मां जुलेखा अपनी दूसरी लड़की का इलाज कराने गए हुए थे। शबनम ने सूना घर पाकर पंखे के कुंडे से लटककर फांसी लगा ली। लौटने पर परिजनों ने शबनम का लटका हुआ शव देखा तो कोहराम मच गया। आक्रोशित परिजन सड़क पर उतर आए और हंगामा करने लगे। घटना की सूचना पाकर थाना पुलिस और सीओ चरखारी गुरुदयाल सिंह कटियार भी मौके पर पहुंच गए और परिजनों को समझाकर शव को कब्जे में लिया और पंचनामा भर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

मृत छात्रा के पिता की तहरीर पर पुलिस ने सुहेल, वीर सिंह और नीरज नामक युवक के खिलाफ गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया। तीनों आरोपी घटना के बाद से फरार हैं। अपर पुलिस अधीक्षक राजेश सक्सेना ने बताया कि जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।