राजस्थान में भारी बारिश से और बाढ़ी बाढ़ की आशंका

देश भर में भारी बारिश के चलते तमाम राज्यों में अफरा तफरी मची हुई है। इसी के साथ राजस्थान में भी भारी बारिश के चलते बाढ़ आने से अब तबाही मचने लगी है। भारी बारिश के कारण नदियों व सागर का जलस्तर बढने से सूबे में बाढ़ के चलते सिरोही, जालौर, सहित अब बाडमेर में भी सडकों पर पानी उतर आया है और बलोतरा शहर में भी हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है। सूबे के अन्य कई जनपदों में तबाही मचने लगी है, साथ ही काई जनपदों में बाढ़ आने की आशंका भी जताई जा रही है। जिससे प्रदेश सरकार ने सभी जिला प्रशासनों को सतर्क रहने के निर्देश दिए है।

fears, increased, flooding,several, states, due to heavy rains, Rajasthan, army, air force,
increased flooding

सूबे के कई जनपदों में तो में बाढ़ के चलते लोकल व नेशनल यातायात भी ठप्प हो गया और साथ ही गांवों में मोबाईल नेटवर्क भी ठप्प पडा हुआ है। जालौर, पाली सहित कई जनपदों में भारी बारिश के चलते पूरे एशिया के सबसे बडी पथमेडा गौशाला सहित कई गौशालाओं में 600 से भी ज्यादा गायों की तो मौत भी हो चुकी है तथा अन्य कई जानवर व जनमानस पानी के बाहव में बहने की भी बात सामने आई है।

आपको यह भी बताते चले कि सूबे के कई जनपद तो पाक सीमा से भी सटे हुए है। पाक सीमा से सटे जनपदों में सबसे बडे जनपद बाडमेर का तो आपने ही सूबे के कई जनपदों से हरतरीके से नाता टूट गया है। जैसे की बताया जाता है कि इन जिलों में तो लोग पानी की एक-एक बूंद के लिए भी तरसा करते थे। सूबे की सबसे बडी लूंडी नदी का जलस्तर बढ़ने से पानी अब बाढ़ का रूप धारण करके गावों में बने घरों में घुसने लगा है तथा नदी से लगे करीब 40-50 गांवों के घरों में तो 3-4 फुट तक पानी भी भर गया है। इन गांवों के निवासीयों को वायुसेना ने अपने हैलिकॉप्टर द्वारा सुरक्षित जगाहों पर पहुचाया गया है साथ ही सरकार ने बाढ़ प्रभावित लोगों के लिए भोजन भी वितरित किया जा रहा है।

सूबे में बाढ़ से प्रभावित लोगों को सुरक्षित जगाहों पर पहुचाने के साथ-साथ प्रशासन से मिली जानकारी में यह पता चला है कि 300-350 से भी ज्यादा लोगों को सुरक्षित जगाहों पर पहुचा दिया गया है तथा बाढ़ रहात व बचाव कार्य अभी प्रगती पर है। जनपद में स्थित पॉवर प्लांट में पानी घुसने से बिजली का उत्पादन भी ठप्प हो गया है। बाडमेर सहित जलौर तथा अन्य कई जनपदों के गांवो में कई दिनों से हो रही भारी बारिश के चलते रविवार को भी बाढ़ आने की आशंका बनी रही। अबतक बाढ़ से सांचौर तहसील क्षेत्र में लोग सबसे ज्यादा हादसों का शिकार हुए है। जिसमें अब तक 4 लोगों की मौत के साथ-साथ कई लोग घायल भी हुए है साथ ही घर, जानवर और कई लोग तो पानी के भाव में ही बह गए है। जनपद बाडमेर के बालोतरा शहर में भी लगातार बाढ़ की आशंका जताई जा रही है जिससे वहां के लोगों में डर व दहशत के माहोल में आ गए है।