किसान ने की आत्महत्या,कर्ज से था परेशान : राजस्थान

जयपुर। किसानों का आत्महत्या करना थमने का नाम नहीं ले रहा है,राजस्थान के बांरा जिले में एक किसान ने कर्ज के कारण आत्महत्या करने का मामला सामने आया है। किसान खेत में फांसी का फंदे पर झूल गया था। बांरा जिले के सकरावदा गांव निवासी 30 वर्षीय किसान संजय द्वारा आत्महत्या किए जाने के बाद परिजनों ने आंदोलन करने चेतावनी दे दी है।

परिजनों ने बताया की खेती में हुए घाटे के कारण संजय काफी परेशान था। खेती में घाटे के कारण उसने 3 लाख रूपए का कर्ज भी लिया और वह चूका नहीं पा रहा था। वह अपनी के्रडिट लिमिट बढ़वाना चाहता था,लेकिन बैंक ने इस बात से इंकार कर दिया। दो दिन पहले वह अपने घर से अचानक लापता हो गया,बुधवार को गांव के बाहर पेड़ पर उसका शव लटका हुआ देख लोग चौंक गए। सूचना पर नाहरगढ़ पुलिस थाना अधिकारी मौके पर पहुंचे और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। थाना अधिकारी मुकेश मीणा ने कहा है की किसान ने आत्महत्या की है,लेकिन अभी कारणों का खुलासा नहीं हो पाया है।

आपको बता दें की मृतक किसान संजय पर कर्ज तो था ही,वह कुछ दिन पहले अपनी मां और भाई की मौत के कारण भी परेशान था। इधर कोटा संभाग में लहसुन की बम्पर पैदावार होने और किसानों को उपज का सही दाम नहीं मिलने से नाराजगी बनी हुई है। बम्पर उपज और सही दाम नहीं मिलने से परेशान एक किसान ने एक ट्रेक्टर ट्राली में भरा करीब 20 क्विंटल लहसुन राजमार्ग पर फेंक दिया। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया की किसान खुद ट्रेक्टर चलाकर आया और लहसुन को फैलाकर चला गया। इस लहसुन को आसपास के लोग बर्तनों और बोरियों में भरकर अपने घर ले गए।

विपक्ष ने कहा है की वो किसान की मौत पर शांत नहीं बैठेंग नेता उपवास करेंगे राजस्थान विधानसभा में विपक्ष के नेता रामेश्वर डूडी कांग्रेसी कार्यकर्ताओं के साथ 1 जुलाई को अपने सरकारी आवास पर एक दिन का उपवास करेंगे। डूडी ने कहा है की उपवास के माध्यम से केन्द्र एवं राज्य सरकार की किसानों के प्रति सदबुद्धी के लिए वे प्रार्थना करेंगे।