परिवार की ज्यादती से परेशान प्रेमी जोड़े ने किया थाने में निकाह

मेरठ। मेरठ में एक प्रेमी जोड़े की शादी से खफा लड़की के रिश्तेदारों ने प्रेमी जोड़े पर कातिलाना हमला किया है। दोनो को बंधक बनाकर जमकर पीटा गया और जान से मारने की कोशिश की गयी। लेकिन जब इलाके के लोगो ने प्रेमी जोड़े को बचा लिया तो मामला पुलिस तक पहुँच गया। पुलिस ने जेब गर्म करते हुए कातिलाना हमले के आरोपियों को बख्श दिया और प्रेमी युगल का थाने में ही निकाह करा दिया।

बता दें कि मेरठ का सलाउद्दीन औऱ गुलबहार कई बरसों से लव-अफेयर में थे। अपनी बरसों पुरानी मुहब्बत को दोनो एक नाम देना चाहते थे जिसे लवमैरिज कहते हैं। लेकिन गुलबहार के घरवालों को गुलबहार की यह पसंद नापसंद थी। इतनी नापसंद कि जब गुलबहार ने घरवालों के विरोध में सलाउद्दीन से निकाह करना चाहा तो बीते 12 मई की शाम को गुलबहार के परिजनों ने प्रेमीजोड़े को जमकर पीटा। दोनो को घर में बंधक बना दिया। गुलबहार के परिजनों ने सलाउद्दीन को इतना मारा कि उसका सिर फोड़ दिया। मुहल्लेवालों ने किसी तरह दोनो की जान बचाई और अपनी जिंदगी की भीख मांगते-मांगते यह जोड़ा लिसाड़ी गेट थाने में पहुँच गया।

वहीं गुलबहार ने पुलिस को अपने घरवालों की ज्यादती कह सुनाई। साथ ही यह भी बताया कि घरवालों ने उसके फैसले से नाराज होकर दो दिन पहले उसे जान से मारने की नीयत से जहर भी खिलाया था। लेकिन वह किसी तरह बच गयी। थाने की चौखट पर इंसाफ मांगने पहुँचे तो पुलिसवालों ने कार्रवाई के बजाय गुलबहार के घरवालों को बुलाया और अपनी जेब गर्म करके प्रेमीजोड़े से उनका समझौता करा दिया। इतना ही नही प्रेमीजोड़ा ज्यादतियों के खिलाफ मुँह न खोले इसलिए पुलिस ने एक मौलाना को बुलाकर थाने में ही उनका निकाह पढ़वा दिया। बाद में पास की मस्जिद में ले जाकर निकाह की रस्में भी अदा कर दी गयी।

 शानू भारती, संवाददाता