पुलिस ने नकली नोट छापने वाली फेक्ट्री का किया भांडाफोड़, 40 लाख बाजार में चलाए

कानपुर। यूपी के कानपुर में रसूलाबाद थाना क्षेत्र में छापा मार कर जनसेवा केंद्र ने बीते मंगलवार तड़के स्वाट टीम ने नकली नोट छापने का कारखाने का भंड़ाफोड़ किया है। साथ ही टीम ने नकली नोट छापने वाली टीम के तीन लोगों को भी गिरफ्तार किया है। कारखाने से 2000 और 500 के 12 रूपये की नकली नकदी बरामद की गई है। स्वाट टीम के प्रभारी संतोष कुमार आर्य की टीम को सूत्रों से पता चला कि रसूलाबाद से सटे कहिंजरी कस्बे के जनसेवा केंद्र में कंप्यूटर स्कैनर के जरिए 500 और 2000 रुपये के नकली नोटों की छपाई हो रही है। जानकारी मिलने पर स्वाट टीम ने बीते मंगलवार तड़के छापा मारकर मौके से नोट छापते तीन युवकों को रंगे हाथ पकड़ा।

fake note, printing racket, uttar pradesh, police, kanpur
kanpur

बता दें कि पुलिस ने कारखाने से कंप्यूटर, मशीन, और भी कई उपकरण जब्त किए हैं। पुलिस ने जिन युवकों को गिरफ्तार किया है उनकी पहचान अश्वनी कुमार, जय प्रताप गौड़ उर्फ राजा सिंह और राजकुमार तिवारी उर्फ नन्हऊ के रूप में की गई है।अश्वीन के इशारे पर ही केंद्र चलता है और स्टाफ काम करता है। पुलिस का कहना है कि तीन लोग अब तक 40 लाख की नदकी बाजार में चला चुके हैं। पुलिस उनके सभी नेटवर्क की खो़ज कर रही है। इस कामयाबी और भांडाफोड़ पर टीम को अपर पुलिस महानिदेशक कानपुर जोन ने 15000 रुपये और एसपी ने 5000 रुपये का पुरस्कार दिया।