यूपी पुलिस ने किया फर्जी आधार कार्ड बनाने वाले गिरोह का भंडाफोड़, 10 आरोपी गिरफ्तार

लखनऊ। यूपी के कानपुर में फर्जी तरीके से आधार कार्ड बनाने वाले गिरोह का पुलिस ने पर्दाफाश किया है साथ ही 10 आरोपियों को गिरफ्तार भी किया है। ये लोग फर्जी तरीके से लोगों के आधार कार्ड बनाते थे। यूपी एसटीएफ ने इस गिरोह के सरगना सौरभ सिंह सहित 10 लोगों को गिरफ्तार किया गया। यह गिरोह यूआईडीएआई द्वारा निर्धारित बॉयोमेट्रिक मानकों को बाइपास करके फर्जी आधारकार्ड बनाने का काम करता था। इस गिरोह के पास 18 नकली आधार कार्ड और उसे बनाने के उपकरण भी बरामद किए गए हैं।

fake aadhaar card, gang, busted, uttar pradesh, police, kanpur
fake aadhaar card

बता दें कि यूपी एसटीएफ को फर्जी आधार कार्ड बनाने वाले गिरोह के होने की जानकारी मिली थी। यूआईडीएआई को इसकी पुख्ता जानकारी मिलने के बाद इसके डिप्टी डायरेक्टर द्वारा लखनऊ के साइबर क्राइम थाने में केस दर्ज कराया गया। इससे पहले इससे संबंधित कई केस लखनऊ, देवरिया और कुशीनगर में भी दर्ज कराये जा चुके हैं। एसटीएफ के आईजी अमिताभ यश के निर्देश के बाद एक टीम इसकी जांच में लगी हुई थी। पुलिस ने जब इस मामले में छानबीन शुरू की तो पता चला कि ये गिरोह चलाने वाला सौरभ कानपुर का रहने वाला है।

वहीं पुलिस ने इस बात का बी पता लगाया कि आखिर ये गिरोह किस तरह से नकली आधार कार्ड का फर्जीवाडा करते हैं। फर्जी आधार कार्ड बनाने के लिए ये गिरोह फोटो पॉलीमर रेजिन केमिकल डालकर पॉलीमर क्यूरिंग उपकरण में पहले 10 डिग्री फिर 40 डिग्री तापमान पर कृत्रिम फिंगर प्रिन्ट, मूल फिंगर प्रिन्ट के समान तैयार कर लेते हैं। उसी कृत्रिम फिंगर प्रिन्ट का प्रयोग करके आधार कार्ड की वेबसाइट पर लॉगिन करते हैं। फिर आधार कार्ड के इनरोलमेंट की प्रकिया पूरी कर लेते है। तैयार किया गया कृत्रिम फिंगर प्रिन्ट ऑपरेटर के मूल फिंगर प्रिन्ट की तरह ही काम करता है। पुलिस फिलहाल आगे की जांच कर रही है।