सलामी बल्लेबाजों की असफलता बन गई है चिंता का विषय: मिताली

लंदन। महिला विश्व कप में भारतीय टीम के सलामी बल्लेबाजों की असफलता चिंता का विषय बन गई है। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 115 रनों से मिली हार से निराश भारतीय महिला क्रिकेट टीम की कप्तान मिताली राज ने भी कहा कि टीम को मजबूत शुरूआत की जरूरत थी, वो भी तब जब हम दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 274 रनों के लक्ष्य का पीछा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि यदि सलामी जोड़ी ने मजबूत शुरूआत दी होती तो बाकि बल्लेबाजों का काम आसान हो जाता।

मिताली ने कहा कि वेस्टइंडीज के खिलाफ मैच से ही हमारी सलामी जोड़ी कुछ खास नहीं कर पा रही है। इंग्लैंड के खिलाफ शुरूआती मैच को छोड़कर सलामी बल्लेबाजों ने कुछ खास नहीं किया। ये एक दो मैचों तक तो ठीक है, लेकिन लगातार चार मैचों में सलामी जोड़ी का असफल होना चिंता का विषय है। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ मैच के बाद भारतीय कप्तान ने कहा कि आप पहले बल्लेबाजी करते हैं या लक्ष्य का पीछा करते हैं तो यह महत्वपूर्ण होता है कि आपका शीर्ष क्रम आपको एक बढ़िया शुरूआत दे। खासकर तब जब आप एक बड़े लक्ष्य का पीछा करते हैं। आफ पर दबाव बना रहता है। इसलिये जरूरी है कि सलामी बल्लेबाज टीम को एक अच्छी शुरूआत दें।

बता दें कि भारत के सलामी बल्लेबाजों पुनाम राउत और स्मृति मंधाना ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ क्रमश: 22 और 4 रन बनाये थे। इंग्लैंड के खिलाफ पहले मैच में 144 रन के दमदार साझेदारी के बाद भारतीय सलामी जोड़ी ने वेस्टइंडीज के खिलाफ 0, पाकिस्तान के खिलाफ 7 और श्रीलंका के खिलाफ 21 रन की साझेदारी की है। गौरतलब है कि लगातार चार जीत के बाद भारतीय टीम को दक्षिण अफ्रीका ने 115 रन से करारी शिकस्त दी। दक्षिण अफ्रीका के 273 रन के जवाब में भारतीय टीम महज 158 रनों पर ढेर हो गई।