मासूम की मौत से खुली प्रशासन की आंख, स्कूलों की दी सख्त हिदायत

चंडीगढ़। प्रोटेक्शन ऑफ चाइल्ड राइट्स कमीशन के चेयरमैन सुरेश कालिया ने समाजिक सुरक्षा, महिला और बाल विकास मंत्रालय को भीषण गर्मी को देखते हुए सख्त निर्देश दिए हैं कि स्कूलों के समय में परिवर्तन किया जाए। जालंधर में बीते दिन एक स्कूल के बाहर गर्मी के चलते एक बच्चे की मौत हो गई है। मौसम विभाग इस संबंध में पहले ही चेतावनी जारी कर चुका है कि पंजाब में इस बार कई दिनों तक लगातार भीषण गर्मी पड़ेगी। तापमान भी लगातार बढ़ता रहेगा। इसके मद्देनजर बच्चों की सेहत को लेकर कमीशन ने यह आदेश जारी किए हैं कि सभी स्कूलों को या तो सुबह जल्दी लगाया जाए या जरूरत पडऩे पर स्कूलों में गर्मियों की छुट्टियां पहले घोषित कर दी जाएं।

बता दें कि आंगनबाड़ी सैंटरों को भी सुबह जल्दी खोलने और बंद करने के अलावा उनमें भी छुट्टियों के निर्देश दिए हैं। इस बार मौसम विभाग ने चेतावनी जारी की है कि लगातार गर्मी पड़ेगी। एक- दो दिनों को छोड़कर तापमान में भी लगातार बढोत्तरी होगी। पंजाब शिक्षा विभाग की तरफ से इस बाबत अभी तक कोई विचार नहीं किया गया है कि स्कूलों में मौसम को लेकर कब छुट्टी की जाए। गर्मी की छुट्टियां पंजाब के स्कूलों में परंपरागत तरीके से तय समय पर ही होती आई हैं।

वहीं कई बार जिला प्रशासन की तरफ से जरूरी स्कूलों को आदेश कर दिए जाते हैं कि वह समय में बदलाव करें, लेकिन उन्हें भी तमाम निजी स्कूलों द्वारा नहीं माना जाता है। इस बार कमीशन ने इस दिशा में पहल की है। मामले को लेकर सुकेश कालिया ने कमीशन के दो अधिकारियों की विशेष ड्यूटी लगाई है कि वह खुद इस मामले को लेकर संबंधित विभाग के साथ तालमेल करें कि उनकी क्या राय है। साथ ही, कमीशन के निर्देशों को तत्काल लागू किया जाए। जिससे किसी और बच्चे पर मौसम की मार न पड़ सके।

चाइल्ड राइट्स कमीशन ने जालंधर के उस स्कूल के संचालकों को 19 मई को कमीशन में तलब किया है, जहां पर एक बच्चे की मौत स्कूल के बाहर छुट्टी के समय हो गई थी। कमीशन के चेयरमैन सुकेश कालिया ने इस मामले का स्वत: संज्ञान लेते हुए यह आदेश जारी किए हैं। उन्होंने बताया कि स्कूल बच्चों की देखरेख व सुरक्षा की जिम्मेवारी से मुकर नहीं सकते हैं। स्कूल के समय में बच्चों की सेहत, सुरक्षा व अन्य प्रकार की जिम्मेदारी स्कूलों के प्रशासन की ही होती है। इसलिए संबंधित स्कूल के संचालकों व मैनेजमेंट के सदस्यों को 19 को तलब किया गया है। उनका पक्ष लेने के बाद कमीशन इस मामले में कार्रवाई करेगा।