नेपाल के पूर्व पीएम प्रचंड के बेटे का निधन, विदेश मंत्री ने जताया शोक

काठमांडु। नेपाल के पूर्व प्रधानमंत्री और नेपाल में माअोवादी विचार धारा के केंद्र पुष्प कमल दहल प्रचंड के 36 वर्षिय इकलौते बेटे का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। अस्पताल के सूत्रों के मुताबिक प्रकाश को आज सुबह थापाथली के नॉर्विक इंटरनेशनल अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां ले जाते ही डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। वहीं दूसरी तरफ भारत कि विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने दहल परिवार के लिए उपजी इस दुख की घड़ी को लेकर शोक व्यक्त किया। स्वराज ने लिखा कि नेपाल के पूर्व  प्रधानमंत्री पुष्प कमल दहल प्रचंड के पुत्र प्रकाश दहल की अचानक दिल का दौरा पड़ने से हुई मृत्यु के बारे में जानकर बहुत दुखी हूं। हमारी संवेदनाएं शोकाकुल परिवार के साथ है।

नेपाल के नॉर्विक अस्पताल में एक प्रेस वार्त को संबोधित करते हुए अस्पताल के डॉक्टर जे.पी.जायसवाल ने कहा कि उन्हें शाम साढे पांच बजे अस्पताल लाया गया था, लेकिन उनका निधन अस्पताल लाये जाने से तीन घंटे पहले हो चुका था। जायसवाल ने कहा कि जब उनको अस्पताल में लाया गया तो उनकी आंखों में कोई हरकत नहीं हो रही थी और उनकी नाडी भी नहीं चल रही थी। उन्होंने बताया कि इस तरह के 90 फीसदी मामलों में मरीज को गंभीर दिल का दौरा पड़ता है।

आपको बता दें कि प्रकाश अपने पिता प्रचंड के सचिव और पार्टी के केंद्रीय सदस्य भी थे।  प्रचंड झापा से काठमांडु पहुंच गए हैं, जहां वह आगामी चुनावों के अभियान में हिस्सा लेने के लिए गए हुए थे। प्रांतीय और संसदीय चुनावों के पहले चरण के मतदान से दो सप्ताह पहले प्रकाश के निधन की खबर मिली है। प्रकाश की पत्नी बीना दहल भी कंचनपुर जिले से संसद के लिए चुनाव लड़ रही हैं। वहीं प्रचंड को एक बेटा और तीन बेटियां थीं। उनमें से एक बेटी का निधन चार वर्ष पहले हो गया था, जोकि स्तन कैंसर से जूझ रही थीं।