पर्यटकों से वाहन चेकिंग के नाम पर की जा रही है अवैध वसूली

देहरादून। उत्तराखंड के मसूरी में जहां आजकल पर्यटक सुहाने मौसम का आनन्द लेने के लिए आते है वहीं पुलिस वाले आए हुए पर्यटकों सें अवैध वसूली में लगे रहते है। दूसरे राज्य से आए हुए पर्यटकों को वाहन चेकिंग के नाम पर उनको परेशान किया जाता है। हरियाण से आए हुए एक पर्यटक से वाहन चेकिंग के नाम पर सिपाही प्रवर्तन सिंह ने रिश्वत लेकर आगे जाने दिए मगर किसी ने इसका वीडियों बना लिया और सोशल मीडिया में वायरल कर दिया हालांकि आरटीओ सुधांशु ने इस पर जांच कमेटी बैठा दी है।

आपको बता दें की हरियाणा के रोहतक निवासी एक युवक का कहना है की वह अपने परिवार के साथ मसूरी जा रहा था की दून मसूरी हाइवे पर उसके गाड़ी को एक पुलिसवाले ने रोक लिया और चेकिंग के नाम पर वह हम लोंगो को परेशान करने लगा जिसके बाद हमने गाड़ी के पूरे कागज दिखाए फिर भी सिपाही ने आगे जाने से मना कर दिया और कहा की आगर गाड़ी को आगे लेकर जाना है तो कुछ पैसे देने होंगे। जिसके बाद हमने पैसे देकर आगे चल दिए और किसी ने इसका वीडियों बना लिया। जो की आजकल शोसल मीडिया में वायरल हो रहा है।

हालांकि ट्रैफिक इंसपेक्टर ने सफाई देते हुए कहा की मैने चेकपोस्ट पर गांड़ी को रोककर सिर्फ उसके कागज चेक कर रहा था जिसमें पर्यटक के गाड़ी का कागज पूरे नही थे जिसके कारण मैंने कहा था की गाड़ी आगे नहीं जा सकती है। लेकिन युवक का कहना है की गाड़ी के कागज पूरे होने पर भी पुलिस वाले पैसे मांग रहे थे जिसका वीडियो किसी ने अपने मोबइल में बना लिया।
लेकिन सरकार ने भी इसके लिए कानून बनाया है की अगर किसी गाड़ी के कागज पूरे नहीं है तो उसका चालान काटा जाए ना की वाहन मालिक को परेशान किया जाए लेकिन आजकल कुछ पुलिस वाले इसका गलत इस्तेमाल करते हैं। जिसके कारण पूरा पुलिस विभाग ही बदनाम होता है। हालांकि आरटीओ सुधांशु गर्ग ने बताया की यह पूरा मामला उनके संज्ञान में नहीं था बुधवार को ही वीडियो उनके पास आया पूरे मामले की जांच को शुरु कर दिया गयी है और रिश्वत खौर पुलिस वाले पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।