बिजली विभाग की लापरवाही, करंट लगने से महिला की मौत

मेरठ में बिजली विभाग की लापरवाही के कारण करंट लगने से एक महिला की मौत का मामला सामने आया है। पूरा मामला थाना कोतवाली क्षेत्र के बुढ़ाना क्षेत्र का है। जहां बारिश के कारण एक महिला की करंट लगने से मौत हो गई है। लेकिन इस घटना में पुलिस का एक दूसरा चेहरा सामने आया जिसमें यह पता लग रहा है लोगों की सहायता करने वाली पुलिस लोगों के बारे में कितना सोचती है। दरअसल यह घटना बुढ़ाना गेट चौकी के पास की है। पुलिस चौकी के सामने करंट लगने से महिला तड़पती रही लेकिन पुलिस का कोई भी नुमाइंदा महिला की मदद करने के लिए आगे नहीं आया।

electricity department, death woman, current, crime, police
Woman dies of electric shock

मेरठ के रोहटा रोड की रहने वाली महिला का नाम बबिता है। बबिता की बारिश के कारण करंट लगने से दर्दनाक मौत हो गई। बताया जा रहा है कि बबिता शादीशुदा है जिसका एक बच्चा भी है। बबिता एलएलबी करके जज की तैयारी कर रही थी। बबिता जागृतिविहार स्थित एक कोचिंग में तैयारी कर रही थी। रोज की तरह बबिता कोचिंग से अपने घर लोट रही थी, लेकिन बारिश में वो जैसे ही बुढ़ाना गेट चौकी के पास पहुंची तो सड़क के गड्ढे में उसकी स्कूटी का पहिया रिपट गया और अनियंत्रित होकर उसकी स्कूटी सड़क पर गिर गई। इस दौरान बबिता का हाथ वहा मौजूद बिजली के खम्बे से जा लगा। लेकिन बारिश की वजह से खंभे पर करंट था।

करंट ने बबिता को काफी देर तक अपनी गिरफ्त में लिए रखा और वो सड़क पर पड़ी हुई तड़पती रही। मौके पर पहुंचे व्यापरियों ने किसी तरह बिजली कटवाई और जमकर हंगामा करते हुए पुलिस पर आरोप लगाया। व्यापरियों का कहना है कि पुलिस के सामने महिला तड़पती रही लेकिन पुलिस ने महिला की मदद नहीं की। व्यापरियों ने आरोप लगाया कि पुलिस ने बुधनगत रोड की बेरीगेटिंग करके इसे छोटा कर दिया है। जिससे आने जाने में काफी दिक्कत होती है। वही गुसाएं व्यापरियों ने हंगामा करते हुए बेरीगेटिंग गिरा दी और तोड़फोड़ भी की। व्यापारियों ने महिला के लिए मुआवजे की मांग भी की है। प्रशासनिक अधिकारियों ने बिजली विभाग के अधिकारियों से बात कर मुआवजे का आश्वासन दिया है। फिलहाल महिला के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है, और परिजनों को घटना की सूचना दे दी है।